- मंडे को सीएम ने सचिवालय में पिरूल व सोलर पॉलिसी पर ली बैठक

dehradun@inext.co.in

DEHRADUN:
राज्य में लोकसभा इलेक्शन निपट जाने के बाद अब सीएम एक्शन मूड में आ चुके हैं. मंडे को सीएम ने सचिवालय में कई सरकारी काम निपटाए और बैठकों को दौर शुरू किया. इसी क्रम में सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों से हो रहे पलायन को रोकने, युवाओं को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराना व महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाना सरकार की प्राथमिकता है. इसी को देखते हुए राज्य में पिरूल व सोलर नीति बनायी गई है. इन नीतियों का बेहतर क्रियान्वयन राज्य हित में है.

पिरूल नीति को महिलाओं के लिए बताया बेहतर
मंडे को सचिवालय में पिरूल व सोलर नीति के क्रियान्वयन समीक्षा के दौरान सीएम ने कहा कि व्यापक जन हित से जुड़ी इन योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन किया जाए. पिरूल नीति महिलाओं के आर्थिक स्वावलंबन का प्रमुख कारक बन सकता है. इससे वनों में लगने वाली आग को रोकने में भी हेल्प मिल सकती है. जबकि इससे ऊर्जा व बायोगैस आदि तैयार कर युवाओं को स्वरोजगार की भी राह प्रशस्त हो पाएगी.

ज्यादा से ज्यादा इंडस्ट्रियलिस्ट आएंगे सामने
सीएम ने कहा कि पिरूल के कलेक्शन व्यवस्था के तहत दी जाने वाली सब्सिडी के लिए धन की कमी नहीं होने दी जायेगी. ज्यादा से ज्यादा इंडस्ट्रियलिस्ट आगे आएं, इसके प्रयास किये जाने जरूरी हैं. सीएम ने कहा कि पिरूल की अधिकता पर्वतीय क्षेत्रों में ही है. ऐसे में पिरूल नीति पर्वतीय क्षेत्रों की आर्थिकी में भी मजबूती प्रदान कर सकती है. इस दौरान सीएम ने सोलर नीति की भी समीक्षा की और राज्य की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने में इसे महत्वपूर्ण बताया. बैठक में सीएस, एसीएस ओमप्रकाश आदि अधिकारी मौजूद रहे.