-एक से 5 साल की उम्र की 9 कन्याओं व एक बटुक का सीएम किया पूजन

GORAKHPUR@inext.co.in
GORAKHPUR: सीएम सह गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने चैत्र नवरात्र की नवमी तिथि को गोरखनाथ मंदिर में श्रद्धा के साथ नवदुर्गा के स्वरूप एक से पांच वर्ष की नौ कन्याओं का पांव पखार कर चुनरी देकर पूजन किया। बटुक भैरव के रूप में एक बालक की भी पूजा की। श्रद्धाभाव से सभी को अपने हाथों से भोजन परोसा और दक्षिणा देकर आशीर्वाद लिया।

दो घंटे की देरी से आए सीएम
सीएम शनिवार सुबह तकरीबन दो घंटे की देरी से वाराणसी से विशेष विमान से गोरखपुर आए। सुबह 11.41 बजे गोरखनाथ मंदिर पहुंच कर उन्होंने गुरु गोरक्षनाथ व अखंड ज्योति का दर्शन किया। उसके बाद अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की समाधि पर पहुंच कर वैदिक मंत्रों के बीच आशीर्वाद लिया। मठ के प्रथम तल पर स्थित शक्ति मंदिर में उन्होंने मां सिद्धिदात्री की पूजा की। उसके बाद मठ के प्रथम तल पर हवन की प्रक्रिया पूर्ण की। मंदिर के प्रधान पुरोहित आचार्य रामानुज त्रिपाठी, डॉ। रोहित मिश्र, डॉ। अरविंद चतुर्वेदी, पुरुषोत्तम चौबे और नित्यानंद तिवारी ने विधि विधान से हवन की प्रक्रिया पूर्ण कराई।

सीएम ने कन्या पूजन का कार्यक्रम संपन्न किया
हवन के तत्काल बाद सीएम ने कन्या पूजन का कार्यक्रम संपन्न किया। कन्या पूजन कार्यक्रम में 35 से ज्यादा कन्याएं और 20 बटुक भैरव शामिल हुए। तकरीबन एक घंटे तक चली इस प्रक्रिया में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परात में जल लेकर एक-एक कन्या के श्रद्धाभाव से पांव पखारा। उनके माथे पर तिलक लगा कर पुष्प की माला पहनाई, वस्त्र के रुप में सभी को चुनरी ओढ़ा कर आशीर्वाद लिया। उसके बाद उन्होंने सभी को पूड़ी, हलवा, चना और लौकी की सब्जी, आलू-परवल की सब्जी, दही, चिउड़ा और पेड़ा परोसा। सीएम के कन्या पूजन कार्यक्त्रम में मंदिर के प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ, सचिव द्वारिका तिवारी, डॉ। प्रदीप राव, अरुणेश शाही, काली बाड़ी मंहत रविंद्र दास, पंचाचन पुरी, विनय गौतम, सौरभ श्रीवास्तव, दुर्गेश बजाज, अमित सिंह, अरुण अग्रवाल, गणेश प्रसाद खजांची, जयप्रकाश सिंह शामिल रहे। इसके पूर्व ब्रह्ममुहूर्त में शक्ति मंदिर एवं मंदिर परिसर में स्थित दुर्गा मंदिर में मंदिर के प्रधान पुजारी योगी कमल नाथ सुबह 4 बजे से 6 बजे तक श्रीदुर्गा सप्तशती के पाठ और आरती के साथ मंदिर में देवी के नौवें स्वरूप सिद्धिदात्री की आराधना की।

मंगला माता मंदिर में भी किया दर्शन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखनाथ मंदिर से कानपुर रवाना होने के पूर्व बेतियाहाता स्थिति मंगला देवी मंदिर जाकर माता का दर्शन किया। उसके बाद एयरपोर्ट से विशेष विमान से कानपुर के लिए रवाना हो गए।