अफसरों को मौके पर ही सजा सुनाने का सिलसिला जारी रखा
lucknow@inext.co.in (LUCKNOW): प्रतापगढ़ के बाद अमरोहा का दौरा करने गये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकारी कार्य में लापरवाही बरतने वाले अफसरों को मौके पर ही सजा सुनाने का सिलसिला जारी रखा। मुख्यमंत्री ने विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान शौचालयों का मानक के अनुसार निर्माण न करने, स्वच्छाग्रहियों को समय से मानदेय न मिलने व सफाई कर्मचारियों को ग्रामों में तैनात न करके अधिकारियों के कार्यालयों एवं आवासों पर तैनात करने पर अमरोहा के डीपीआरओ देवेंद्र सिंह एवं एडीओ पंचायत हसनपुर नानक चंद्र को निलंबित करने का फरमान जारी कर दिया।

अधिकारियों और कार्मिकों को किसी बि‍ल्‍कुल बख्शा नहीं जायेगा
वहीं कार्यों में लापरवाही बरतने पर मुरादाबाद के अपर निदेशक स्वास्थ्य डॉ. जे. रानी का तबादला करने और बैठक से अनुपस्थित मुरादाबाद के बिजली विभाग के चीफ इंजीनियर इंदर पाल सिंह को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण तलब करने के आदेश दिये। अमरोहा के कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में योगी ने कहा कि बेहतर कानून-व्यवस्था एवं भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। विकास योजनाओं के क्रियान्वयन में शिथिलता बरतने वाले दोषी अधिकारियों और कार्मिकों को किसी भी दशा में बख्शा नहीं जायेगा।

इसके लिए सीएम ने छापामार अभियान चलाने के निर्देश दिए
सीएम ने अमरोहा की सार्वजनिक वितरण प्रणाली के संबंध में प्राप्त शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए गरीबों के राशन पर डकैती डालने वालों के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई  करने को कहा। इसके लिए उन्होंने छापामार अभियान चलाने के निर्देश दिए। साथ ही एक सप्ताह में राशन कार्डों का सत्यापन कराकर फर्जी राशन कार्डों को निरस्त करने की कार्यवाही करने को कहा। उन्होंने मूल निवास एवं जाति प्रमाण पत्रों के 2538, चकबंदी के 681 और आईजीआरएस के लंबित मामलों पर गहरा रोष प्रकट करते हुए इसे तीन दिन में निस्तारित करने के सख्त निर्देश भी दिए।

JNU: अब लव जि‍हाद पर बनी फ‍िल्‍म की स्‍क्रीन‍िंग से ब‍िगड़ा माहौल, छात्र संगठनों में हुई हाथापाई

UP में तीन द‍िन‍ में दूसरा बड़ा हादसा: अब लखीमपुर में यात्रि‍यों से भरी वैन ट्रक से टकराई, नौ की मौत, सात घायल

National News inextlive from India News Desk