-गोरखपुर-दिल्ली के लिए नई फ्लाइट इंडिया को सीएम ने दिखाई हरी झंडी

-प्रधानमंत्री का सपना हो रहा साकार, हवाई चप्पल पहनने वाला करेगा हवाई यात्रा: सीएम

Gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR: नए टर्मिनल भवन से यात्रियों की बढ़ती संख्या और मांग के दृष्टिगत इसका निर्माण किया गया है. यह वातानुकूलित टर्मिनल भवन कांच और स्टील से निर्मित एक संरचना है, जो सभी सुविधाओं व सेवाओं से सुसज्जित है. यह बातें सीएम योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर हवाई अड्डे के नए टर्मिनल भवन फेज-2 एयरपोर्ट अथॉरटी से गोरखपुर-दिल्ली खंड में नई फ्लाइट इंडिगो के शुभारंभ के दौरान कही. उन्होंने उड्डयन विभाग का एक सराहनीय पहल है और केंद्र सरकार उत्तर प्रदेश के विकास के लिए निरंतर सहयोग है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि बेहतर हवाई संपर्क के लिए इसकी शुरुआत की गई है. गोरखपुर से नई दिल्ली तक का सफर मात्र 3000 रुपए में तय किया जा सकता है. पूर्व में गोरखपुर से केवल एक जहाज की उड़ान होती थी, लेकिन आज तीन जहाज इंडिगो, एयर इंडिया व स्पाइस जेट की उड़ान हो रही है. उन्होंने बताया कि 22 एयरपोर्ट के विस्तारीकरण का कार्य शुरू हो रहा है. अब गोरखपुर से दिल्ली प्रतिमाह 14 हजार यात्री सफर कर रहे हैं. यानी प्रतिदिन 500 यात्री सफर कर रहे हैं. बहुत जल्द गोरखपुर से कोलकाता, मुंबई, बेंगलुरु, काठमांडू की सेवा भी श्ाुरू होगी.

जल्द दो नए इंटरनेशनल एयरपोर्ट का होगा निर्माण
सीएम ने कहा कि गोरखपुर को देश के अंदर हर महानगर से जोड़ने की दिशा में कार्य हो रहा है. प्रधानमंत्री का सपना था कि हवाई चप्पल पहनने वाला भी हवाई यात्रा करें और उनका यह सपना अब साकार हो रहा है. इसके अतिरिक्त दो नए इंटरनेशनल एयरपोर्ट कुशीनगर व दिल्ली के पास बनाए जाएंगे. विमान सेवा समय की बचत के साथ विकास की धुरी बन चुका है. हर व्यक्ति कनेक्टिविटी चाहता है और सरकार विकास की योजना को आगे बढ़ाने की ओर अग्रसर है. कहा कि एक जिला एक उत्पाद के तहत प्रदेश के हर जनपद को विकसित किया जा रहा है और इसके तहत 5 लाख युवाओं को प्रतिवर्ष रोजगार मिलेगा.

गोरखपुर को हर महानगरों को हवाई सेवा से जोड़ा
केंद्रीय वाणिज्य उद्योग व नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विकास को काफी गति मिली है और केंद्र सरकार प्रदेश के विकास में सतत प्रयत्नशील है. कहा कि हमारी सरकार का प्रयास है कि जिस तरह रेलवे, बस स्टेशन पर यात्रियों की भीड़ होती है. उसी तरह एयरपोर्ट पर भी भीड़ हो और आने वाले समय में रोडवेज व रेलवे स्टेशन से अधिक भीड़ यात्रियों की होगी. हवाई सेवा का विस्तार तेजी से किया जा रहा है, उत्तर प्रदेश देश के सबसे उभरा हुआ राज्य हो, इस दिशा में प्रयास जारी है. गोरखपुर को देश के हर महानगरों को हवाई सेवा से जोड़ा जाएगा. उन्होंने कहा कि सरकार यह भी प्रयास कर रही है. जहाज को खरीदने के बजाए हमारे देश में उसे बनाने का कार्य करने के लिए नई नीति बनाई जा रही है और इसका एक हिस्सा उत्तर प्रदेश में भी बनेगा.

देश में बढ़ रही कनेक्टिविटी क्रांति
केंद्रीय उड्डयन राज्य मंत्री जयन्त सिन्हा ने कहा कि इस देश में कनेक्टिविटी में क्रांति बढ़ती जा रही है. उसमें विशेष क्रांति विमानन क्षेत्र में आ रही है. विमानन पालिसी पूरे उत्तर प्रदेश में तेजी के साथ क्रांति फैलती जा रही है, इंडिगो फ्लाइट का शुभारंभ आज हुआ है और यह आगे प्रयास है कि सभी मुख्य शहरों को गोरखपुर से जोड़ दिया जाए. उन्होंने कहा कि जहाज का किराया 4 रुपए प्रति किमी पड़ता है. जबकि, आटो 5 रुपए प्रति किमी चार्ज करता है. उन्होंने कहा कि वायुयान से यात्रियों पूर्व की अपेक्षा अब दोगुनी हो गई है.

हरी झंडी के बाद पहुंचे मेडिकल कॉलेज
केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने कहा कि हवाई सेवा का विस्तार प्रदेश में निरंतर हो रहा है और गोरखपुर को पूरे भारत से शीघ्र विमानन सेवा से जोड़ा जाएगा. अतिथियों का स्वागत कार्यपालक निदेशक राजेश कालरा ने किया. इसके बाद मुख्यमंत्री व केंद्रीय वाणिज्य उद्योग व नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु एवं अन्य मंत्री ने मेडिकल कॉलेज जाकर 108 बेड के रैन बसेरा का निरीक्षण किया. मौके पर प्रदेश के नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल, सांसद संतकबीरनग, शरद त्रिपाठी, विधायक डॉ. राधामोहन दास अग्रवाल, विमलेश पासवान, संगीता यादव, महापौर सीता राम जायसवाल, डीएम के विजयेन्द्र पांडियन आदि मौजूद थे.