- गोरखपुर महोत्सव के समापन कार्यक्रम में सीएम ने विरोधियों को दिया करारा जवाब

-सैफई महोत्सव में जितने करोड़ रुपए हुआ था खर्च, उतने में हम पूरे प्रदेश में करा लेंगे महोत्सव

GORAKHPUR: गोरखपुर महोत्सव में शामिल होने गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को विपक्षियों को मुंहतोड़ जवाब दिया. समापन समारोह में सीएम ने कहा कि सरकार के खजाने से गोरखपुर महोत्सव का आयोजन नहीं हुआ है. एक-एक पैसे का हम हिसाब रखते हैं. सैफई महोत्सव में जितना पैसा पिछली सरकार ने खर्च किया था. उतने पैसे में हम 75 जिले में महोत्सव करा देंगे. विरोधियों की क्या बात करें महोत्सव का ठेका एक गांव ने ले रखा है. उनका तो यह पेटेंट महोत्सव हो गया है, लेकिन अब ऐसे नहीं होगा.

बरसाना में मनाएंगे होली

सीएम ने कहा कि प्रशासन, उद्यमियों व गोरखपुर की जनता के सहयोग से गोरखपुर महोत्सव को हमनें सकुशल संपन्न कराया है. बरसाना में अब होली मनाएंगे. चित्रकुट में होली तो मनाएंगे ही. साथ ही इस उत्सव को धूमधाम से मनाएंगे. विरोधियों ने तो 25 से 31 दिसंबर तक आयोजित होने वाले कपिल महोत्सव का भी विरोध किया था. लेकिन उनकी दाल न गली.

मेला क्या किसी सरकार की देन है?

योगी ने विरोधियों पर तंज कसते हुए कहा कि क्या खिचड़ी मेला का आयोजन किसी सरकार की देन है? नहीं न? खिचड़ी मेला हमारे पूर्वजों की धरोहर है, इसे संजो कर रखना ही हमारा उद्देश्य है. यह समाज का महोत्सव है न की किसी गांव विशेष का. यह महोत्सव पूर्वाचल का महोत्सव है.

योगी ने कहा कि इस परंपरा को हम आगे बढ़ाएंगे. चाहे महोत्सव हो या फिर खिचड़ी मेला. साथ ही हम शासन की योजनाओं को सफल बनाने में कहीं से पीछे नहीं हटेंगे.

अनुशासन व मर्यादा ही दिया मुंहतोड़ जवाब

सीएम ने कहा कि गोरखपुर महोत्सव में आयोजित भोजपुरी कार्यक्रम में किसी प्रकार का कोई फूहड़पन नहीं था. न तो कहीं अभद्रता थी. कई बार देखा गया महोत्सव में फूहड़पन के साथ अनुशासहीनता की पराकाष्ठा पार कर दी जाती है. जबकि, गोरखपुर महोत्सव में ऐसा कहीं से कुछ भी नहीं हुआ. गोरखपुर महोत्सव में अनुशासन और मर्यादा के साथ संपूर्ण योगदान लोगों ने दिया है. अनुशासन और मर्यादा ही विरोधियों को मुंहतोड़ जवाब है.

पद्मावति की रिलीज पर भविष्यवाणी नहीं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावति के रिलीज के सवाल पर कहा कि भविष्य वक्ता नहीं हूं. इस पर कोई भविष्यवाणी नहीं करूंगा.

मकर संक्त्रांति पर दी बधाई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों को मकर संक्रांति की बधाई दी. कहा कि अलग अलग नाम से संक्रांति मनाई जाती है. गुरु गोरखनाथ से मकर संक्रांति जुड़ी हुई है जहां नेपाल, उत्तर प्रदेश देश के विभिन्न हिस्सों से लाखों श्रद्धालु आते हैं. श्रद्धालुओं की सुरक्षा और सुविधा का ध्यान रखना पड़ता है. इसलिए मुझे स्वयं यहां आना पड़ा है.

18 को करेंगे ताज का दीदार

इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू रविवार को भारत के 6 दिवसीय यात्रा पर आ रहे हैं. मुख्यमंत्री 18 जनवरी को आगरा में उनका स्वागत करेंगे. उनके साथ आगरा का ताजमहल भी देखने जाएंगे. भारत इजराइल संबंधों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल को उत्तर प्रदेश में आगे बढ़ाने का काम योगी आदित्यनाथ पर है. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश के कृषि और कृषि यांत्रिकी में इजराइल के तकनीक पर चर्चा होगी. यह हमारे लिए एक अवसर है. जब इजराइल से जल संरक्षण के क्षेत्र में तकनीक का लाभ हमें मिलेगा. नेतन्याहू 14 जनवरी को नई दिल्ली आएंगे.

40 हजार आवंटियों को दी जाएगी फ्लैट की चाभी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्षो से नोएडा के आवंटी पूर्ववर्ती सरकार के भ्रष्टाचार और उपेक्षा से परेशान हैं. हम उनकी समस्याओं को समाधान करेंगे. जनवरी के आखिरी हफ्ते से अप्रैल माह के पहले हफ्ते तक 80 हजार आवंटियों को अपने हाथों से फ्लैट की चाभी सौंपेंगे. नोएडा में कैंप लगा कर यह फ्लैट वितरण का कार्य संपन्न कराया जाएगा. जनवरी में 40 हजार आवंटियों और अप्रैल में 40 हजार आवंटियों को फ्लैट की चाभी दी जाएगी.