क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : झारखंड की लड़कियों में नर्सिग के प्रति बढ़ते रुझान को देखते हुए मंत्रालय ने दुमका में नर्सिग ट्रेनिंग कॉलेज खोलने पर सहमति दी है. इसके निर्माण पर 12 करोड़ रुपये की लागत आएगी. इसी तरह हॉकी के प्रति रुझान को देखते हुए खूंटी में एस्ट्रोटर्फ ग्राउंड खोले जाने पर भी सहमति दी है. एस्ट्रोटर्फ के निर्माण पर सात करोड़ रुपये खर्च किए जाने की योजना है. एस्ट्रोटर्फ परिसर में एक आवासीय इकाई भी होगी, जहां 250 लड़कियां एक साथ रहकर प्रशिक्षण ले सकेंगी.

कई योजनाओं को मंजूरी

पिछले दिनों मंत्रालय स्तर पर सभी राज्यों के कल्याण सचिवों के साथ हुई बैठक में कई अन्य योजनाओं के संचालन की भी हरी झंडी दी गई. मंत्रालय ने इसी तरह आदिवासी बहुल जामताड़ा, खूंटी, लातेहार, लोहरदगा, पश्चिम सिंहभूम, रांची, साहिबगंज और सरायकेला में संचालित पहली से आठवीं कक्षा तक विद्यालयों में 400 अतिरिक्तक्लास रूम बनाने की स्वीकृति दी है.

एकलव्य विद्यालयों को तोहफा

झारखंड के एकलव्य विद्यालयों में अध्ययनरत छात्रों के पठन-पाठन और आवासन पर अब प्रति छात्र सालाना 61,500 रुपये खर्च होंगे. पहले इस मद में 42 हजार रुपये दिए जाते थे. राज्य में फिलहाल रांची, दुमका, पश्चिम सिंहभूम, साहिबगंज, गुमला, लोहरदगा और गोड्डा में एकलव्य विद्यालयों का संचालन हो रहा है, जहां 2829 छात्र अध्ययनरत हैं. मंत्रालय ने इसी तरह धनबाद और गढ़वा के लिए दो नए एकलव्य विद्यालय स्थापित करने की अनुमति दी है. प्रति विद्यालय 480 छात्रों की क्षमता वाले इन विद्यालयों के निर्माण पर 12-12 करोड़ रुपये खर्च होंगे.