कानपुर। भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री ने धोनी के संन्यास लेने की खबर को सिरे से खारिज कर दिया है। शास्त्री का ये बयान तब आया जब सोशल मीडिया पर बुधवार को धोनी के रिटायरमेंट की खबरें तेजी से फैलने लगी थीं। दरअसल माही को भारत बनाम इंग्लैंड के आखिरी वनडे मैच में अंपायर से गेंद लेते हुए देखा गया था। पूर्व भारतीय कप्तान वो गेंद ड्रेसिंग रूम ले गए थे। ऐसे में क्रिकेट प्रशंसकों को लगा कि अब धोनी क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लेंगे क्योंकि इससे पहले उन्हें कभी ऐसा करते नहीं देखा गया था।
धोनी नहीं लेंगे संन्यास,कोच रवि शास्त्री ने बताई अंपायर से गेंद लेने की असल वजह
शास्त्री ने गेंद लेने की बताई असल वजह
कोच रवि शास्त्री ने इन बातों को सिर्फ अफवाह बताया। एक अंग्रेजी अखबार को दिए बयान में शास्त्री ने धोनी के बाल लेने के रहस्य से पर्दा उठाया। शास्त्री का कहना था, 'यह बिल्कुल बकवास है, एमएस कहीं नहीं जा रहा। धोनी ने अंपायर से बॉल इसलिए ली थी ताकि वह बॉलिंग कोच भरत अरुण को दिखा सकें। भारत को अब इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की लंबी टेस्ट सीरीज खेलनी है। ऐसे में माही गेंद का निरिक्षण कर यहां की कंडीशन से वाकिफ होना चाहते थे।'
धोनी नहीं लेंगे संन्यास,कोच रवि शास्त्री ने बताई अंपायर से गेंद लेने की असल वजह
टेस्ट क्रिकेट से ले चुके हैं अलविदा

इंग्लैंड में टी-20 और वनडे सीरीज खेलने के बाद धोनी बहुत जल्द वापस भारत लौटने वाले हैं। भारत को इंग्लैंड में अब सिर्फ टेस्ट सीरीज खेलनी है जबकि माही 2014 में ही टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं। ईएसपीएन क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, धोनी ने भारत की तरफ से 90 टेस्ट खेले जिसमें उनके नाम 38.09 की औसत से 4876 रन दर्ज हैं। टेस्ट में धोनी ने 6 शतक और 33 अर्धशतक भी लगाए हैं उनका हाईएस्ट टेस्ट स्कोर 264 रन है।
धोनी नहीं लेंगे संन्यास,कोच रवि शास्त्री ने बताई अंपायर से गेंद लेने की असल वजह
धोनी की धीमी बल्लेबाजी पर उठ रहे सवाल
37 साल के एमएस धोनी ने टेस्ट क्रिकेट को भले ही चार साल पहले छोड़ दिया था मगर अब वनडे और टी-20 में उनकी बल्लेबाजी पर सवाल खड़े हो रहे। इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे वनडे में जब माही ने 59 गेंदों में 37 रन बनाए तो उनकी धीमी बल्लेबाजी देख दर्शक हूटिंग तक करने लगे थे। क्रिकेट जगत में ऐसा शायद पहली बार देखने में आया था कि भारत को 2007 और 2011 में वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान को लोग इस तरह चिढ़ाएं।
धोनी नहीं लेंगे संन्यास,कोच रवि शास्त्री ने बताई अंपायर से गेंद लेने की असल वजह
गांगुली ने भी बल्लेबाजी में बदलाव लाने की सलाह दी
यही नहीं सीरीज हारने के बाद भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भी धोनी को बल्लेबाजी में बदलाव देने की सलाह दी है। गांगुली वही हैं जो धोनी को टीम में लाए थे। पीटीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत की तरफ से 300 से ज्यादा वनडे खेल चुके पूर्व खिलाड़ी सौरव गांगुली ने कहा, 'धोनी पिछले तीन मैचों में फ्लॉप रहे हैं। अगर टीम मैनेजमेंट धोनी को अगले साल होने वाले वर्ल्ड कप में प्लेइंग इलेवन में रखता है तो माही को अपने खेल में थोड़ा बदलाव करना होगा। धोनी को अपनी पोजीशन खुद चुननी होगी क्योंकि जिस नंबर पर आकर वह बल्लेबाजी कर रहे उन्हें थोड़ा संघर्ष करना पड़ रहा है। अगर 25 ओवर का खेल बाकी है और माही को पारी बनानी है तो अब उन्हें दिक्कत महसूस हो रही।' हालांकि दादा को पूर्व कप्तान धोनी की काबिलियत पर भरोसा है। उन्होंने आगे कहा, 'इसमें कोई दोराय नहीं कि धोनी भारत के एक महान खिलाड़ी हैं। मगर इस साल उन्हें कुछ नया करना होगा।'

Cricket News inextlive from Cricket News Desk