- बोले, यहां भी कोचिंगों में नही है आग से निपटने के इंतजाम

- कहीं न कहीं युवाओं को कचौट रहा सूरत का अग्निकांड

बरेली : सूरत में हुए अग्निकांड ने हर वर्ग के लोगों को झकझोर कर रख दिया है। सबसे ज्यादा खौफजदा वह स्टूडेंट्स हैं जो फ्यूचर संवारने के मल्टी स्टोरी बिल्डिंग में चल रहे कोचिंग सेंटर्स में कोचिंग ले रहे हैं। शहर के कोचिंग सेंटर्स में आग से निपटने के इंतजाम न होने की खबरों को पढ़ने के बाद वह कोचिंग में जाने से भी डर रहे हैं। यूथ ही इस परेशानी को जानने के लिए मंडे को दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की टीम ने कुछ कोचिंग सेंटर्स के स्टूडेंट्स से बात की तो उन्होंने खुलकर अपनी बात कही।

1. सवाल : सूरत अग्निकांड के बाद कोचिंग में खुद को कितना सेफ फील करते हैं?

जवाब : पहले कोचिंग में जाने को बेताबी रहती थी लेकिन अब डर सा लगता रहता है कि अगर आग लग गई तो हम कैसे बचेंगे।

गौरव, गुरु द्रोणाचार्य कोचिंग।

2. सवाल : यहां भी कई कॉम्पलेक्स के कोचिंग संस्थानों में आग से निपटने के इंतजाम नही हैं?

जबाव : मैं भी कॉलेज स्टूडेंट हुं। इसी माह कोचिंग ज्वाइन करने की सोच रहा था, लेकिन सूरत में हुए अग्निकांड से मैं इतना घबरा गया कि शहर में एक-दो कोचिंग में कोर्स की बात से पहले आग के इंतजामों के बारे जानकारी ली तो कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला।

विनीत कुमार।

सवाल : मीडिया में लगातार काम्पलेक्स में चल रहे कोचिंग संस्थानों में मानक पूर्ण न होने की बात पब्लिश हो रही है इस पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है?

जवाब : मीडिया की खबरों से ही पता चला कि हम जहां कोचिंग ले रहे हैं वहां आग से निपटने के जो इंतजाम है वो नाकाफी है। इससे दिल में डर पैदा हो गया है। अन्य साथियों से भी इस बारे में काफी चर्चा हुई। प्रशासन को कोई ठोस कदम उठाना चाहिए जिससे हम सेफ हो सकें।

विवेक कुमार, महेंद्रा कोचिंग।