- दून में एनडीए के लिये 50 छात्रों को दी जाएगी कोचिंग, आईएएस और आईपीएस के लिए भी कोचिंग सेंटर चलाएगी सरकार

- जिलों में डीएम भी लेंगे स्टूडेंट्स की क्लास, 100 छात्रों को रिसर्च के लिए किया जाएगा तैयार

DEHRADUN: देहरादून में राज्य सरकार एनडीए के लिये 50 छात्रों को ट्रेंनिग देने के लिए कोचिंग शुरू करेगी. जिसमें 10 सीट शहीद सैनिकाें की विधवाओं और उनके बच्चों के लिये निर्धारित रहेगी. उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने बताया कि प्रदेश के सभी जनपद मुख्यालयों के डिग्री कॉलेजों में आईएएस और आईपीएस के लिए भी कोचिंग संचालित की जायेगी. जिसमें संबंधित जिले के जिलाधिकारी भी सप्ताह में एक दिन छात्रों को पढ़ाएंगे. इनमें से 50 छात्रों को सिलेक्ट कर देहरादून व दिल्ली में कोचिंग की व्यवस्था की जायेगी. प्रदेश में 3 लाख से कम आय वाले परिवारों के 100 छात्रों को रिसर्च के लिये तैयार किया जायेगा. इसकी विषय सामग्री राज्य सरकार द्वारा निर्धारित की जाएगी.

गेल उत्कर्ष सुपर-100 की लांचिंग

सूबे में गरीब परिवारों के होनहार बच्चे देश के प्रतिष्ठित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों और अन्य शीर्ष इंजीनियरिंग कॉलेजों में शिक्षा प्राप्त करने का मौका मिलेगा. ट्यूजडे को गेल इण्डिया लिमिटेड और सीएसआरएल के बीच अल्मोड़ा और श्रीनगर में गेल उत्कर्ष सुपर-100 के दो केन्द्रों को स्थापित करने में सहयोग को लेकर समझौता हुआ. इस अवसर पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गेल उत्कर्ष सुपर-100 की शुरुआत के लिये गेल के सीएमडी का आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि राज्य के मेधावी छात्रों को उच्च तकनीकि संस्थानों में प्रवेश के प्रशिक्षण के लिये गेल द्वारा हर साल 2.50 करोड़ की धनराशि खर्च करने के अलावा उच्च तकनीकि संस्थानों में प्रवेश पाने वाले छात्रों को 5 हजार प्रतिमाह छात्रवृत्ति दी जाएगी. इस अवसर पर सीएम ने रेल टेल आकांक्षा सुपर-30 के छात्रों को भी सम्मानित किया.