'उन्नति'की सफलता के बाद दूसरा कदम
हिंदुस्तान कोका कोला और जैन इरिगेशन ने 2011 में उन्नति नाम से एक मैंगो फार्मिंग प्रोजेक्ट शुरु किया था. उस प्रोजेक्ट की सफलता के बाद अब यह दूसरा कदम है.

50 करोड़ का होगा इंवेस्टमेंट
दोनो कंपनियां मिलकर इस प्रोजेक्ट में 50 करोड़ का इंवेस्टमेंट करेंगी. इसके लिए 50,000 एकड़ जमीन और 25,000 किसान और अल्ट्रा हाई डेंसिटी प्लांटेशन (यूएचडीपी) टेकनीक का प्रयोग किया जाएगा. प्लान के पहले ही फेज में दो मिलियन डॉलर का इंवेस्टमेंट किया जा चुका है. इसके साथ ही 200 डेमो फॉर्म्स और 4,000 किसानों को भी लगाया जा चुका है.

आम की तोतापुरी ब्रीड की फॉर्मिंग होगी
दूसरे फेज में यह प्लान तमिलनाडु और कर्नाटक के  किसानों के साथ मिलकर अमल में लाया जाएगा. इसके पहले यूएचडीपी टेकनीक, ड्रिप इरिगेशन और ऑन साइट ट्रेनिंग को सफलतापूर्वक अमल में लाया जा चुका है.

2022-23 तक हर साल 300 किलो मेट्रिक टन तक मैंगो प्रोडक्शन
जैन इरिगेशन के ज्वाइंट मैनेजिंग डाइरेक्टर अतुल जैन के मुताबिक इंडिया दुनिया के सभी देशों से ज्यादा मैंगो पल्प का प्रोचक्शन करता है. लेकिन आम के प्रोडक्शन के मामले में पीछे है. इसलिए वे इस बिजनेस को प्रोमोट करना चाहते हैं.

Business News inextlive from Business News Desk