RANCHI: स्मार्ट सिटी मिशन के तहत राजधानी रांची में लगनेवाले कमांड कंट्रोल कम्यूनिकेशन सेंटर के लिए लोकेशन व जंक्शन चिन्हित करने और जंक्शन्स का इंप्रूवमेंट प्लान तैयार करने का काम दो सप्ताह में पूरा हो जाएगा। इसके साथ ही मई महीने से ऑप्टिकल फ ाइबर व अन्य इक्विपमेंट्स लगना शुरू हो जाएगा। मंगलवार को नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव अजय कुमार सिंह ने समीक्षा बैठक की। सचिव ने निर्देश दिया कि सभी 50 लोकेशंस को चिन्हित कर जंक्शन को कंजेशन फ्री कराया जाएगा और तब काम को तेज गति से धरातल पर उतारा जाएगा। 15 अगस्त तक शहर में इसका इंपैक्ट दिखने लगेगा। बैठक में हर काम के लिए समय सीमा निर्धारित किया गया। इस बैठक में विभागीय सचिव अजय कुमार सिंह, रांची के नगर आयुक्त मनोज कुमार व अपर नगर आयुक्त गिरिजा शंकर प्रसाद, स्मार्ट सिटी के महाप्रबंधक राकेश कुमार नंदक्योलियार, पीआरओ अमित कुमार के साथ हनीवेल के कई पदाधिकारी मौजूद थे। स्मार्ट सिटी के पीएमसी टीम लीडर सुबा रॉय भी बैठक में मौजूद थे।

शहर को करेगा कंट्रोल

कमांड कंट्रोल एंड कम्यूनिकेशन सेंटर शहर के सभी इलाके में प्रभावी होगा। सबसे पहले पांच स्मार्ट सड़कों पर लोकेशन चिन्हित होगा ताकि सड़क चौड़ीकरण के साथ ही जंक्शन इंप्रूवमेंट का भी काम पूरा हो सके। शहर की ट्रैफि क व्यवस्था में सुधार के लिए वर्तमान में कार्यरत सिग्नल लाइट्स के अलावा अन्य 40 जंक्शन पर ऐसी ही लाइट की व्यवस्था होगी। कई जगहों पर बिजली के पोल भी शिफ्ट किए जाएंगे। वहीं डाटा सेंटर निर्माण से पहले कंपनी नगर निगम के सहयोग से सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट पर काम करे।

यह होगा खास

-ट्रैफि क मैनेजमेंट, डाटा सेंटर, पार्किंग मैनेजमेंट, विडियो सर्विलांस, सिटी वेब पोर्टल एंड मोबाईल ऐप, कम्यूनिकेशन नेटवर्क और इंटरप्राइज जीआईएस नेटवर्क।

-इसके तहत 91 वाई फ ाई हॉटस्पॉट नगर निगम की बसों में लगेंगी।

-10 जगहों पर इन्वायरमेंटल मॉनिटरिंग सिस्टम लगेगा।

-50 जगहों पर पब्लिक अनाउंसमेंट सिस्टम लगेगा।

-50 जगहों पर इमरजेंसी रिस्पांस सिस्टम लगेगा।

-100 जगहों पर वैरिबल मैसेज सिस्टम लगेगा।

-इंटेलिजेट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के तहत 40 जगहों पर ऐडप्टिव ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम, टीसीएस,

-50 जगहों पर रेड लाईट वायलेशन डिटेक्शन सिस्टम

-50 जगहों पर एएनपीआर और 10 जगहों पर स्पीड वायलेशन डिटेक्टर लगेगा।