एसएससी ने जारी किया सीजीएल 2017 री एग्जाम का एडमिट कार्ड

सीजीएल 2013 का पर्चा आउट होने के बाद शुरू हुई ऑनलाइन परीक्षाएं

vikash.gupta@inext.co.in

ALLAHABAD: भले ही स्टॉफ सेलेक्शन कमीशन (एसएससी) की कम्बाइंड ग्रेजुएट लेवल 2017 टीयर टू की पूरी परीक्षा को निरस्त किए जाने की मांग दिल्ली से लेकर इलाहाबाद तक जोर पकड़ चुकी हो. लेकिन इस परीक्षा के निरस्त होने के चांस न के बराबर हैं. इसके पीछे बड़ा कारण एसएससी द्वारा सीजीएल परीक्षा की सीबीआई जांच की मांग को मान लेना है. एसएससी अफसरों का मानना है कि जब सीबीआई जांच की मांग मान ली गयी है तो इसके बाद भी छात्रों का प्रदर्शन जारी रहना तर्कसंगत नहीं है.

21 फरवरी की परीक्षा हुई हैं कैंसिल

अपने स्टैंड पर कायम एसएससी ने 09 मार्च को सीजीएल का री एग्जाम करवाने की तैयारियां तेज कर दी हैं. इसके लिए एसएससी सेंट्रल रीजन इलाहाबाद ने एडमिट कार्ड भी जारी कर दिया है. यह परीक्षा 21 फरवरी की निरस्त हुई परीक्षा के बाद करवायी जा रही है. अभ्यर्थी यूपी और बिहार की परीक्षा कंडक्ट करवाने वाले रीजनल वेबसाइट से अपना एडमिट कार्ड रजिस्ट्रेशन आईडी, रोल नम्बर तथा नाम, पिता के नाम और डेट ऑफ बर्थ से निकाल सकते हैं. बता दें कि एसएससी की सीजीएल 2013 ही वह परीक्षा थी, जिसका पर्चा आउट होने के बाद एसएससी ने एक एक करके सभी परीक्षाओं को ऑनलाइन कंडक्ट करवाने का डिसीजन लेना शुरु किया.

सभी परीक्षाएं हुई ऑनलाइन

कम्बाइंड ग्रेजुएट लेवल के अलावा कम्बाइंड हायर सेकेंडरी लेवल की बड़ी परीक्षा को भी ऑनलाइन मोड में कंडक्ट करवाया जाने लगा. क्योंकि सीएचएसएल 2014 का भी पर्चा बड़े स्तर पर आउट हुआ था. हाल फिलहाल ऑनलाइन मोड में हुई सीजीएल 2017 टीयर टू की परीक्षा ही ऐसी है. जिसके कंम्प्यूटर मोड में होने के बाद भी हाईटेक तरीके से पेपर लीक हुआ है. इसने सरकार और एसएससी के अफसरों के माथे पर दोबारा चिंता की लकीरें खींच दी हैं.

मल्टीटास्किंग का पर्चा तीन बार आउट

मालूम हो कि एसएससी की मल्टीटास्किंग परीक्षा 2016 ही वह अंतिम परीक्षा है. जिसको सबसे बाद में ऑफलाइन मोड से ऑनलाइन मोड में करवाया गया. क्योंकि, इससे पहले मल्टीटास्किंग एग्जाम 2016 का पर्चा भी आउट हुआ था. इस परीक्षा का पर्चा तीन बार आउट होने के बाद आयोग ने पूरी परीक्षा को निरस्त कर दिया था. खास बात ये है कि आयोग की इस परीक्षा में परीक्षार्थियों की न्यूनतम योग्यता हाईस्कूल निर्धारित है. इसमें आवेदन करने वालों की उम्र सीमा भी 18 से 25 वर्ष है.

मल्टीटास्किंग परीक्षा की खास बातें

- मल्टीटास्किंग एग्जाम पहले पांच चरणों में होना था.

- परीक्षा पूर्व में 30 अप्रैल, 14 मई, 28 मई, 04 जून एवं 11 जून को निर्धारित थी.

- दो चरणों की परीक्षा के दौरान पेपर आउट होने के कारण पूरी परीक्षा करनी पड़ी कैंसिल.

- दोबारा परीक्षा का आयोजन ऑनलाइन मोड में 16 सितम्बर से 22 सितम्बर, 03 अक्टूबर से 16 अक्टूबर, 21 अक्टूबर से 27 अक्टूबर एवं 29 अक्टूबर से 31 अक्टूबर के बीच कराई गई.

- ऑल इंडिया लेवल पर होने वाली परीक्षा में पूरे देश से परीक्षार्थियों की संख्या 62 लाख थी.

- यूपी और बिहार की मध्य क्षेत्र की परीक्षा में परीक्षार्थियों की संख्या 19,94,331 थी.

- इसके टीयर वन का रिजल्ट बीते 15 जनवरी को आया था.

- इसके बाद 28 जनवरी को टीयर टू की परीक्षा करवायी गयी.

- करेंट में इस भर्ती परीक्षा के डाक्यूमेंट वेरिफिकेशन का काम चल रहा है.