फैक्ट फाइल

-185543 शहर में कंज्यूमर्स

-24 सब स्टेशन से होती बिजली सप्लाई

-16000 ट्रांसफार्मर शहर में लगे

-बिजली विभाग को निरीक्षण में डोमेस्टिक मीटर से गोदाम, अस्पताल और दुकान चलते मिले

- कनेक्शन चेंज करने को दिया एक माह का समय, कनेक्शन चेंज न करने पर जाना होगा जेल

बरेली : बिजली विभाग ने एक माह पहले शहर के कई इलाकों में सर्वे किया तो चौंकाने वाली बात सामने आई। कई मोहल्लों में डोमेस्टिक मीटर लगाकर उनका कॉमर्शियल यूज किया जा रहा था। ऐसे करीब 12000 लोगों पर बिजली विभाग ने शिकंजा कसने की तैयारी शुरू कर दी। विभाग ने पहले इन सभी कंज्यूमर्स को एक माह का समय कनेक्शन चेंज करने के लिए दिया था। विभाग ने कनेक्शन चेंज करने के लिए 2 मई को कैंप लगाया तो कई कंज्यूमर्स ने एक महीने का और टाइम मांगा। इस पर बिजली विभाग ने मई आखिरी तक का टाइम दिया है।

गोदाम और अस्पताल चलते मिले

अधिकारियों ने बताया कि पकड़े गए ज्यादातर कंज्यूमर्स में डोमेस्टिक मीटर का यूज अस्पताल और दुकान चलाने में कर रहे थे। साथ की कुछ लोग दुकान भी चला रहे थे। कंज्यूमर्स के इस खेल से बिजली विभाग को करोड़ो रुपए की राजस्व की हानि हो रही थी।

वसूला जाएगा जुर्माना

बिजली विभाग के अधिकारियों ने बताया कि डोमेस्टिक मीटर का कॉमर्शियल यूज करने वाले कंज्यूमर्स से खपत के आधार पर जुर्माना वसूला जाएगा। साथ ही बताया कि जो दो महीने का टाइम दिया गया है, उसका भी जुर्माना वसूला जाएगा। वहीं कनेक्शन चेंज न करने वाले कंज्यूमर्स को खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

दो दिन में मिलेगा कनेक्शन

ऐसे कंज्यूमर्स के लिए विभाग ने विशेष छूट दी है। जल्द से जल्द कनेक्शन को परिवर्तित किया जा सके इसके लिए विभाग में एक विशेष कैंप आयोजित किया जाएगा। इसमें आवेदन करने वाले कंज्यूमर्स को दो दिन में नया कनेक्शन दे दिया जाएगा।

चेंज नहीं किया तो होगी जेल

कनेक्शन बदलने की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद विभागीय टीम की ओर से सर्वे किया जाएगा। जिन कंज्यूमर्स ने कनेक्शन में बदलाव नहीं किया होगा। उनका कनेक्शन फौरन काट दिया जाएगा। वहीं संबंधित के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

कर्मचारियों की मदद से होता खेल

बिजली चोरी के इस खेल में कहीं न कहीं विभागीय कर्मचारियों की भी मिली-भगत रहती है। इस खेल को उजागर करने के लिए उच्चाधिकारियों ने एक टीम का गठन किया है। इसका नेतृत्व एसडीओ करेंगे, जो लोगों से पूछताछ कर ऐसे कर्मचारियों की पहचान करेंगे, जिनकी मदद से यह खेल चल रहा है।

वर्जन ::

पिछले माह शहर में औचक निरीक्षण किया गया था, जिसमें करीब 12000 ऐसे कंज्यूमर्स मिले जिनका डोमेस्टिक कनेक्शन था, लेकिन वह कॉमर्शियल यूस कर रहे थे। इनको कनेक्शन चेंज करने के लिए एक माह का समय दिया गया है।

एनके मिश्रा, एसई।