-मेरठ में दर्जन भर से अधिक स्थानों पर बल्क में मिसिंग वोट की आ रही शिकायत

-हंगामे की वजह बना वोटों का मिस होना, बीएलओ से स्पष्टीकरण किया तलब

आई एक्सक्लूसिव

मेरठ: दक्षिण विधानसभा के घाट गांव में सैकड़ों अनुसूचित जाति के वोट कटने पर मतदाताओं ने जमकर हंगामा किया. शहर सीट पर भी छतरी वाले पीर के बूथ नंबर 1 में कांग्रेस नेता ने वोट कटने पर शिकायत दर्ज कराई. चुनाव आयोग इस पर कड़ा रुख अपनाते हुए जिला प्रशासन से स्पष्टीकरण तलब किया है.

जमकर हंगामा

घाट गांव के अलावा वोटिंग के दौरान शनिवार को कैंट विधानसभा के सीएवी इंटर कॉलेज मतदान केंद्र में वोट कटने पर सदर निवासियों ने हंगामा किया था. बूथ नंबर 19 पर भाजपा और कांग्रेस के एजेंटों ने वोट कटने की शिकायत अधिकारियों से की थी. कैंट के ही बूथ 38 पर अफसरों को पब्लिक का विरोध लिस्ट में नाम न होने पर झेलना पड़ा था.

कई लोगों की शिकायत

नौचंदी ग्राउंड स्थित मतदान केंद्र पर भी लोगों ने नाम गायब होने पर हंगामा किया था. लिसाडी रोड स्थित मतदान केंद्र पर लिस्ट से नाम गायब होने पर पब्लिक में आक्रोश था. सरधना, किठौर, सिवालखास आदि विधानसभाओं में भी लोगों ने वोट कटने की शिकायत करते हुए हंगामा किया था.

आयोग ने ली खबर

11 फरवरी को मतदान के वोट मिसिंग की शिकायत ने जिला प्रशासन को आड़े हाथों लिया है. आयोग ने प्रशासन से शिकायतों की जांच करने और वोट न बन पाने के कारण पर स्पष्टीकरण तलब किया है. एडीएम प्रशासन और उप निर्वाचन अधिकारी मुकेश चंद्र ने सभी रिटर्निग अफसरों को रिपोर्ट बनाने के आदेश दिए. बूथ लेवल ऑफीसर की भूमिका की पड़ताल भी हो रही है. आयोग ने निर्देश दिए कि मतगणना प्रक्रिया समाप्त होने के बाद बीएलओ बूथ बार सर्वे कर मिसिंग वोट को लिस्ट में जोड़ने का काम करेंगे.

---

चुनाव आयोग के निर्देश पर बूथवार रिपोर्ट तैयार की जा रही है, साथ ही बीएलओ से इस संबंध में स्पष्टीकरण तलब किया जाएगा.

-मुकेश चंद्र, एडीएम सिटी एवं उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी, मेरठ