-रि। जज अरुण टंडन की अध्यक्षता में हुई दिल्ली में मीटिंग, 5 दिन में जांच कर शासन को रिपोर्ट देने के आदेश

kanpur@inext.co.in

KANPUR : फ्राइडे को दिल्ली में टेनरी बंदी की सत्यता की जांच के लिए बैठक हुई। रि। जज व एनजीटी की मॉनिटरिंग कमेटी के अध्यक्ष अरुण टंडन ने 5 दिन में जांच कर रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं। 21 मई से 26 मई तक जांच कर रिपोर्ट शासन को देनी है। कमेटी में जल निगम, पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड, नगर निगम के अलावा प्रशासनिक अधिकारी शामिल रहेंगे। शासन द्वारा 28 को रिपोर्ट एनजीटी में देनी होगी। बता दें कि टेनरी बंदी के बावजूद गंगा में टेनरी वेस्ट जाने की सूचना पर कमेटी का गठन किया गया है। बैठक में एनएमसीजी के डिप्टी डायरेक्टर मथुरिया व शासन के चीफ इंजीनियर भी मौजूद रहे।

वसूला जाएगा क्राेम का पैसा

मामले में नगर निगम के पर्यावरण अभियंता आरके पाल ने बताया कि कानपुर के संबंध में सीसीआरपी से निकलने वाले क्रोम का ट्रांसपोर्टेशन फ्री किया जाता है। आदेश दिए गए थे कि संचालन के लिए पैसा लिया जाए। इसको लेकर प्रस्ताव थर्सडे को शासन में भेज दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक 2 से 3 किमी। रेंज में 24 पैसे क्रोम प्रति लीटर वसूला जाएगा। वहीं अरुण टंडन ने टेनरी को लेकर हुए बवाल की भी अधिकारियों से पूरी जानकारी ली।