लखनऊ एयरपोर्ट पर बंगलुरू जाने के लिए फ्लाइट में हुए सवार
लखनऊ। जानकारी के मुताबि‍क आज सुबह 6:35 इंडिगो की फ्लाइट 6E-541 लखनऊ से बंगलुरु के लिए जा रही थी। ऐसे में इलाहाबाद के रहने वाले डॉक्‍टर सौरभ राय करीब 6 बजे बंगलुरु जाने के लिए प्‍लेन में सवार हुए। वह नारायण हृदयालय में सर्जन है। डॉक्‍टर राय ने प्‍लेन में मच्‍छर होने की शिकायत की। उन्‍होंने वहां मौजूद क्रू मेंबर से कहा कि प्‍लेन में मच्‍छर काफी ज्‍यादा होने की वजह से यात्रि‍यों को परेशानी हो रही है। यहां पर बच्‍चों से लेकर बुजुर्ग सभी हैं। ऐसे में इन मच्‍छरों के काटने से उनके स्‍वास्‍थ्‍य पर बुरा असर पड़ेगा। हालांकि इस दौरान डॉक्‍टर सौरभ को मच्‍छरों की शिकायत करना महंगा पड़ गया। उन्‍हें ही फ्लाइट से नीचे उतार दिया गया।

प्‍लेन में मच्‍छर होने की शिकायत पर इंडिगो ने डॉक्‍टर को नीचे उतारा

प्‍लेन में हुआ दुर्व्‍यवहार
इस संबंध में डॉक्‍टर सौरभ राय का कहना है कि 'मैं जब प्‍लेन में चढ़ा तो उसमें काफी सारे मच्‍छर थे। ऐसे में मैंने कुछ पैसेंजर्स के साथ इसकी शिकायत वहां मौजूद एयरहोस्‍टेस से की और कहा कि यहां कुछ स्प्रे वगैरह छिड़काया जाए। इस पर एयरहोस्‍टेस ने मुझसे कहा कि अभी आपसे कोई सीनियर बात करेगा। ऐसे में जब कोई सीनियर नहीं आया और प्‍लेन का दरवाजा बंद किया जाने लगा तो मैंने यात्रि‍यों के स्‍वास्‍थ्‍य को देखते हुए इसका विरोध किया। इस दौरान मेरे साथ दुर्व्‍यवहार करते हुए कहा गया कि लखनऊ में तो मच्‍छर सामान्‍य बात है। हिंदुस्‍तान छोड़ के चले जाइए। इतना ही नहीं मुझे आतंकी कहते हुए सिक्‍योरिटी के बल पर प्‍लेन से नीचे उतार दिया गया। इसके अलावा मुझे इंडिगो की ओर से माफी मांगने के लिए दबाव बनाया गया कि मेरी वजह से फ्लाइट लेट हुई है।

प्‍लेन में मच्‍छर होने की शिकायत पर इंडिगो ने डॉक्‍टर को नीचे उतारा

इंडिगो ने दिया एनजीटी के आदेश का हवाला
वहीं विमान कंपनी इंडिगो की पीआरओ साक्षी बत्रा ने कहा है कि डॉक्‍टर सौरभ को फ्लाइट से नीचे मच्‍छरों की शि‍कायत करने पर नहीं उतारा गया है बल्‍क‍ि उनके अक्रामक रवैये की वजह से किया गया है। इसके लिए तय सेफ्टी प्रोटोकॉल का पालन किया गया। कंपनी ने एनजीटी के आदेश का भी हवाला देते हुए कहा है कि विमान में यात्री होने पर कीटाणुनाशक का छिड़काव नहीं किया जा सकता।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव : BJP की पहली सूची में 72 उम्मीदवार, सत्ता में वापसी के ल‍िए येदियुरप्पा संग ये नेता बनेंगे प्रत्‍याशी

देश में सबसे पहले केरल ने तय किए ब्रेन डेथ के मानक, पारदर्शी होगी अंग प्रत्‍यारोपण की प्रक्रिया

National News inextlive from India News Desk