- प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए विधानसभा में उप नेता सदन करन माहरा ने लगाए आरोप

- भाजपा ने दिया जवाब, सूर्यधार में सीएम व उनके परिजनों की एक इंच भी जमीन नहीं

>DEHRADUN: प्रदेश कांग्रेस ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत पर थानो के पास सस्ती जमीन खरीदने का आरोप लगाया है। विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष करन माहरा ने ट्यूजडे को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीएम और संजय गुप्ता पर आरोप लगाए। कहा कि मामले की जांच हाईकोर्ट के सीटिंग जज से कराई जाए। कांग्रेस ने सीएम से इस्तीफा देने की भी मांग की। ऐसा न होने पर आंदोलन तक की धमकी दी।

16 बीघा जमीन सस्ते दाम पर खरीदने का आरोप

उप नेता सदन व विधायक करन माहरा ने आरोप लगाया कि सीएम व उनके पार्टनर संजय गुप्ता ने मिलकर नवंबर 2016 से 31 जुलाई 2017 तक चामासारी क्षेत्र में करीब 16 बीघा जमीन सस्ते में खरीदी। नदी किनारे जमीन खरीदने के बाद जमीन से लगती नदी पर करीब 70 करोड़ की लागत से सूर्यधार झील बनाने की घोषणा की। जबकि जमीन खरीदने के 6 माह के बाद 25 दिसंबर 2017 को सीएम ने संजय गुप्ता के साथ झील निर्माण का शिलान्यास और भूमि पूजन भी किया। कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए कहा कि सीएम की पत्‍‌नी व संजय गुप्ता की पत्‍‌नी के नाम पर चामासारी स्थित संयुक्त जमीन की रजिस्ट्री 27 जुलाई 2012 को की गई। जबकि संजय गुप्ता ने 8 नवंबर 2016 को वहीं जमीन खरीदी। करन माहरा ने संजय गुप्ता के स्टिंग की ऑडियो-वीडियो क्लिपिंग भी जारी की।

सूर्यधार में सीएम व परिजनों की कोई जमीन नहीं

सूर्यधार परियोजना को लेकर कांग्रेस के आरोप पर भाजपा ने भी तत्काल जवाब दिया। प्रदेश भाजपा प्रवक्ता व विधायक मुन्ना सिंह चौहान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्पष्ट किया कि सूर्यधार में सीएम व उनके परिजनों की एक इंच जमीन भी नहीं है। कांग्रेस जिस भूमि का जिक्र कर रही है, वह सूर्यधार से करीब 30 किलोमीटर दूर चामासारी में है। सीएम 2017 के विधानसभा चुनाव में इसे सार्वजनिक भी कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि यदि सूर्यधार में सीएम व उनके परिजनों की कोई भूमि निकली तो वह और सीएम इस्तीफा दे देंगे। यह कांग्रेस की लोकसभा चुनाव में हार की बौखलाहट है और जनता को गुमराह किया जा रहा है। जबकि सूर्यधार परियोजना को 2016 में कांग्रेस सरकार ने मंजूरी दी थी। योजना 48 लाख रुपए की थी। जिन संजय गुप्ता का कांग्रेस नाम ले रही है, उनके द्वारा सूर्यधार में 2016 में भूमि ली गई थी। कहा, संजय गुप्ता की पत्नी और सीएम की पत्नी के नाम 2017 व 18 में भूमि की जो रजिस्ट्री हुई, वह सूर्यधार से 30 किमी दूर चामासारी में है। सूर्यधार से कोई संबंध नहीं है।