नर्इ दिल्ली (पीटीआर्इ)। जी हां हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर गए हैं। कांग्रेस मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने राहुल गांधी के यात्रा पर रवाना होने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि राहुल गांधी कैलाश मानसरोवर की पवित्र यात्रा पर भगवान भोले शंकर के दर्शन के लिए रवाना हुए हैं। इस यात्रा में करीब 12 से 15 दिन लगेंगे। राहुल जब अप्रैल में कर्नाटक जा रहे थे तो तब उनका विमान अचानक खतरनाक रूप से सैकड़ों फीट नीचे आया तो कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रार्थना करते हुए भगवान शिव को याद किया था।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर दी जानकारी

इस दौरान राहुल समेत सभी लोग बाल-बाल बच गए थे। राहुल ने भी ट्विटर पर संस्कृत के एक श्लोक के माध्यम से यात्रा पर जाने की सूचना दी।सुरेजवाला ने यह भी कहा कि सुरक्षा कारणों से सटीक मार्ग का खुलासा नहीं कर सकते हैं। वहीं राहुल गांधी की इस यात्रा पर सियासी सरगर्मी तेज होने लगी है। बीजेपी ने दावा किया है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी चाहते थे कि कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए रवाना होते समय चीनी राजदूत उन्हें पारंपरिक रूप से विदार्इ दें। चीन के राजदूत ने राहुल को पारंपरिक रूप से विदा करने के लिए भारत सरकार से इजाजत मांगी थी।

चीन के लिए बोलने का आरोप लगाया
हालांकि उनके पत्र का जवाब नहीं दिया गया। इतना ही नहीं भारतीय जनता पार्टी ने राहुल गांधी के चीनी प्रवक्ता की तरह हर जगह चीन के लिए बोलने का आरोप लगाया। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने सवाल उठाए कि राहुल अपने पसंदीदा देश चीन की यात्रा के दौरान किस नेता और अधिकारी से मुलाकात करेंगे। हालांकि इस दौरान संबित पात्रा ने राहुल की तीर्थयात्रा पर टिप्पणी न करते हुए कहा कि यह उनकी निजी यात्रा है। संबित पात्रा ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस अध्यक्ष के चीन कनेक्शन के बारे में पूछा कि आप राहुल गांधी हैं ना कि चाइनीज गांधी।  

शिव जी के क्रोध को आमंत्रित किया

चीनी राजदूत एक गैर चीनी व्यक्ति को क्यों विदा करना चाहते हैं? हकीकत में ऐसा कोई प्रोटोकॉल नहीं है। समझ नहीं आता है कि आखिर कांग्रेस अध्यक्ष का चीन कनेक्शन क्या है।  वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की निजी धार्मिक यात्रा पर भाजपा के सियासी हमले की आलोचना पर कांग्रेस ने जवाबी वार किया है। रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा पर यात्रा में बाधाएं लगाने की कोशिश करने का आरोप लगाया है।  उन्होंने भगवान शिव के क्रोध को आमंत्रित किया है। भाजपा के इस कृत्य से जाहिर है कि उसने हिंदू आस्था और विश्वास का भी अपमान किया है।

केरल में राहुल गांधी ने किया एेसा काम, जिसके लिए उन्होंने हेलीकाॅप्टर में बैठ किया 30 मिनट इंतजार

अविश्वास प्रस्ताव गिरा, आंख मारने से लेकर गले मिलने तक जानें लोकसभा में वोटिंग से पहले आैर क्या-क्या हुअा

National News inextlive from India News Desk