-सेंट्रल यूनिवर्सिटी इस सेशन में भी नहीं हो पाएगी शिफ्ट

-सीबीआई जांच को लेकर अटका है 10 फीसदी निर्माण

ranchi@inext.co.in

RANCHI (24 Feb): कांके के चेरी मनातू में क्ख्भ् करोड़ की लागत से फ्क्9 एकड़ में सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ झारखंड(सीयूजे) का नया कैंपस बन कर लगभग तैयार है. लेकिन, मात्र एप्रोच रोड नहीं बन पाने के कारण शिफ्टिंग टलती जा रही है. वीसी डॉ. नंद कुमार यादव इंदु का कहना है कि एप्रोच रोड बनाने को लेकर राज्य सरकार के साथ फ् मार्च को बैठक होनी है. इसमें तमाम बातें रखी जाएंगी.

रोड निर्माण शुरू नहीं

चेरी मनातू स्थित सीयूजे के नए कैंपस तक पहुंचने के लिए कांके रोड होते हुए जाना होता है. वहां से एक रिंग रोड है, जो अधूरा बना है. वहीं से मनातू गांव के लिए एप्रोच रोड बनना है. इसका काम अब तक शुरू नहीं हुआ है. इससे भारी परेशानी हाे रही है.

यह सेशन भी पुराने कैंपस में

सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ झारखंड के स्टूडेंट को इस सेशन में भी अपने पुराने कैंपस में ही पढ़ाई करनी होगी. नए कैंपस में जाने का उनका सपना पूरा नहीं हो सकेगा. इसमें सबसे बड़ा विलेन वहां तक पहुंचने के लिए एप्रोच रोड है, जिसे अब तक झारखंड सरकार की ओर से पूरा नहीं किया गया है. इस कारण वहां तक स्टूडेंट्स और यूनिवर्सिटी प्रशासन का पहुंचना मुश्किल है.

कोर्ट से परमिशन लेगा सीयूजे

सेंट्रल यूनिवर्सिटी के वीसी का कहना है कि सीबीआई की जांच के कारण पुराने पेमेंट पर रोक लगा दी गई है. इस कारण भी नए कैंपस का अधूरा काम पूरा नहीं हो पा रहा है. इसके लिए अगले महीने कोर्ट के माध्यम से परमिशन ली जाएगी. मालूम हो कि सीयूजे का नया कैंपस करीब 90 परसेंट बनकर तैयार है. सीबीआई जांच के कारण सिर्फ दस परसेंट काम बचा हुआ है.

ग‌र्ल्स-ब्वॉयज हॉस्टल रेडी

कांके के चेरी मनातू में सीयूजे के नए कैंपस में वर्तमान में पीजी के ख्08 ब्वायज व ख्08 ग‌र्ल्स के हॉस्टल्स को अंतिम रूप दिया जा चुका है. इसके साथ ही बिल्डिंग भी लगभग तैयार हो चुकी है. इसी बिल्डिंग में क्लासेज चलेंगी.