मोबाइल चोरी की शिकायत पर मुंशी ने पढ़ाया पाठ

सौ रुपये निकलते ही सारे नियम पहुंचे तांक पर

शिकायत को यूपी पुलिस और आईजी को किया ट्वीट

आगरा. एक तरफ अधिकारी पुलिस की छवि सुधारने में लगे हैं वहीं अधीनस्थ उनकी इस कोशिश पर पलीता लगा रहे हैं. थाना मलपुरा में मोबाइल चोरी की शिकायत दर्ज कराने पर मुंशी ने ज्ञान दे दिया लेकिन जब 100 रुपये थमाए तो सारे नियम तांक पर रख तहरीर पर मोहर लगा दी. पीडि़त ने मामले की पोर्टल में शिकायत की और ट्वीट भी किया.

ऑटो से चोरी हुआ था मोबाइल

धनौली, मलपुरा निवासी भूपेंद्र कुमार पुत्र अशोक कुमार जेपी गु्रप में ठेकेदार हैं साथ ही वे बजरंग दल के महानगर सह संयोजक हैं. 11 अक्टूबर को उनकी बहन रेखा ससुराल से मायके आ रही थीं. उस दौरान ऑटो में किसी ने मोबाइल चोरी कर लिया. भूपेंद्र तहरीर लेकर थाने गए तो वहां मुंशी मिले. मुंशी ने पहले बहन को बुलाने की बात की पर वे ससुराल जा चुकी थीं. इसके बाद आईडी, शपथपत्र लाने को कहा. इस पर भूपेंद्र ने कहा कि मात्र मोहर लगा दें जिससे सिम निकलवाया जा सके.

सौ रुपये में लगाई मोहर

मुंशी ने ज्ञान दिया कि इस तरह से मोहर लगवाकर तो कसाब का डीएल भी बन गया था. भूपेंद्र ने कहा कि मैं कोई आतंकी नहीं हूं. मुंशी ने साफ मना कर दिया और बोला कि ऐसे मोहर नहीं लगेगी चाहे एसएसपी के पास जाओ. इस पर भूपेंद्र वहां से जाने लगे आरोप है कि मुंशी ने रोक कर 100 रुपये मांगे. सौ रुपये देने पर तुरंत तहरीर पर मोहर लगा दी. इस पर भूपेंद्र ने कहा कि अब नियम कहां चला गया. मुंशी ने मुंह बंद रखने की बात बोल कर जाने को बोल दिया.

पोर्टल पर की शिकायत

भूपेंद्र ने इस मामले में सीएम के पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई है. भूपेंद्र का कहना है कि मुंशी बदतमीजी से बात की थी. शिकायत को यूपी पुलिस और आईजी रेंज आगरा को भी ट्वीट किया है.