lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : दीक्षांत समारोह कैलेंडर के अनुसार, सभी विश्वविद्यालयों में 84 दिवसों में समारोह संपन्न होकर छात्र-छात्राओं को उपाधियां वितरित हो जाएंगी। राज्यपाल सभी विश्वविद्यालयों के दीक्षांत समारोह में स्वयं भी उपस्थित रहेंगे तथा ये पारंपरिक भारतीय वेशभूषा में सम्पन्न होंगे। इस वर्ष प्रथम दीक्षांत समारोह 24 अगस्त को मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय गोरखपुर का होना है तथा 15 नवंबर को अंतिम दीक्षांत समारोह इलाहाबाद राज्य विश्वविद्यालय इलाहाबाद का संपन्न होना है।

स्टूडेंट्स को होती थी दिक्कत

उल्लेखनीय है कि राम नाईक ने राज्यपाल पद की शपथ ग्रहण करने के पश्चात से ही कुलाधिपति के रूप में प्रदेश की उच्च शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने का प्रयास किया है। पूर्व में विश्वविद्यालय में शैक्षिक कैलेंडर घोषित न होना, समय से प्रवेश न होना, ससमय परीक्षाएं आयोजित एवं परिणाम घोषित न होना एवं समय से दीक्षांत समारोह सम्पन्न न होने से स्टूडेंट्स को समय से उपाधियां भी प्राप्त नहीं होती थी जिससे उनको प्रतियोगी परीक्षाओं में सम्मिलित होने में बाधा आती थी।

चर्चा की तथा मार्गदर्शन किया

राज्यपाल ने विश्वविद्यालय के कैलेंडर को सुव्यवस्थित करने एवं शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए प्रतिवर्ष दो कुलपति सम्मेलन आयोजित कर प्रदेश शासन के उच्चाधिकारियों, कुलपतियों एवं विश्वविद्यालय के अधिकारियों से चर्चा की तथा मार्गदर्शन किया। इसका ही परिणाम है कि अब विश्वविद्यालयों में समय से प्रवेश हो रहे हैं तथा परीक्षाएं आयोजित होकर परिणाम भी घोषित हो रहे हैं। ध्यान रहे कि दो विश्वविद्यालय हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय कानपुर एवं जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय बलिया नवीन हैं तथा इनके छात्र अभी स्नातक स्तर तक नहीं पहुंचे हैं इसलिए इनका दीक्षांत समारोह अभी सम्पन्न नहीं होना है।

इन तारीखों में होगा दीक्षांत समारोह
24 अगस्त - मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय गोरखपुर
30 अगस्त - ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती उर्दू अरबी-फारसी विश्वविद्यालय लखनऊ
31 अगस्त - पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय एवं गो अनुसंधान संस्थान मथुरा
1 सितंबर - एसजीपीजीआई लखनऊ
4 सितंबर - महात्मा च्योतिबा फूले रूहेलखंड विश्वविद्यालय बरेली
6 सितंबर - नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय फैजाबाद
8 सितंबर - महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी
8 सितंबर - छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर
13 सितंबर - सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय मेरठ
15 सितंबर - डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय फैजाबाद
18 सितंबर - राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय इलाहाबाद
20 सितंबर को बुंदेलखंड विश्वविद्यालय झांसी
24 सितंबर - चौैधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ
26 सितंबर - बांदा कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय
28 सितंबर - चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कानपुर
5 अक्टूबर - डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा
9 अक्टूबर - लखनऊ विश्वविद्यालय
12 अक्टूबर - डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय लखनऊ
16 अक्टूबर - सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु सिद्धार्थनगर
23 अक्टूबर - भातखंडे संगीत संस्थान सम विश्वविद्यालय लखनऊ
26 अक्टूबर - दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय गोरखपुर
30 अक्टूबर - किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय लखनऊ
 2 नवंबर - संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय वाराणसी
5 नवंबर - वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर
12 नवंबर - डॉ. शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय लखनऊ
15 नवंबर - इलाहाबाद राज्य विश्वविद्यालय

इलाहाबाद को बहुत जल्द मिलेगा ये नया नाम, मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने राज्यपाल को लिखा पत्र

इस खास चुनाव के लिए यूपी के राज्यपाल ने की डाक से मतदान सुविधा की मांग

National News inextlive from India News Desk