दो दिन पहले हुई भारी बारिश के दौरान नाले में बह गया था शिखर

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: शहर में दो दिन पहले बुधवार की शाम हुई भारी बारिश के दौरान सलोरी स्थित समाज कल्याण विभाग के विकास विद्यालय की दीवार ढहने बाद तेज बहाव में बह गए 13 वर्षीय शिखर का शव शुक्रवार को सलोरी नाले में मिला. शव मिलने की खबर मिलते ही नाले के पास लोगों की भीड़ जुटने लगी. पुलिस ने किसी प्रकार शव को नाले से बाहर निकाला और उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

भाई-बहन में छोटा था शिखर

ओम गायत्री नगर एरिया में रहने वाली चंदा सिंह के पति जय प्रकाश सिंह की मौत 2013 में हो गई थी. उनके दो बच्चों में शिखर छोटा था, जबकि बहन उससे बड़ी थी. शिखर के चाचा बृजेश सिंह ने बताया कि बुधवार की रात में भारी बारिश से स्कूल की दीवार ढह गई थी. तेज बहाव में शिखर बह गया था. उसके बाद शिखर की तलाश की जा रही थी. शुक्रवार को सलोरी नाले में शिखर का शव बरामद किया गया. उधर बेटे की बॉडी देखकर मां चंदा सिंह और बहन दहाड़ मारकर रोने लगीं. दोपहर में पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया.

गौरतलब है कि बुधवार की शाम तेज बारिश से शहर में जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया था. इस दौरान सलोरी में समाज कल्याण विभाग के स्कूल की दीवार ढहने से अनी गुप्ता नाम के बच्चे की मौत हो गई. जबकि वैभव नाम का एक बच्चा घायल हो गया था.

शिखर के परिजनों को मुआवजा देने की मांग

अभिभावक एकता समिति ने सलोरी में बारिश के दौरान तेज बहाव में बहने जाने वाले बच्चे शिखर सिंह के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की है. इस दौरान समिति के प्रदेश अध्यक्ष विजय गुप्ता ने नगर निगम पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए घटना में मारे गए शिखर के परिजनों को 20 लाख रुपए की मदद देने की मांग की.