देहरादून

आईपीएल और रणजी टीम में सिलेक्शन कराने का झांसा देकर उत्तराखंड़ के कई उभरते क्रिकेट प्लयेर्स के परिवारों से करोड़ों रूपए ठगने वाला खलाड़ी गांव निवासी अंकित रावत को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले अभी दूसरा आरोपित फरार चल रहा है। उसकी गिरफ्तारी के लिए भी पुलिस की टीम कई स्थानों पर दबिश दे रही है।

उत्तरकाशी के खलाड़ी गांव निवासी दो सगे भाइयों ने धनराशि को कम समय में दोगुना करने का लालच के साथ ही रणजी ट्रॉफी व आइपीएल टीम में युवकों का चयन कराने का झांसा दिया था। इसके नाम पर कई लोगों से करोड़ों रूपए ठगे। शिकायत डीजी लॉ एंड आर्डर अशोक कुमार के पास पहुंची तो पुरोला और रायपुर थाने में दो एफआईआर दर्ज हुई। ठगी के शिकार अन्य लोग भी शिकायतें लेकर भटक रहे हैं।

चर्चा यह है कि फरारी के दौरान आरोपी राजस्थान भाग गया था। उत्तराखंड पुलिस ने राजस्थान पुलिस से संपर्क किया। राजस्थान पुलिस ने दबाव बनाया तो आरोपी वहां से फिर उत्तराखंड भाग आया। यहां पहुंचने पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

देहरादून के तरला आमवाला निवासी हाकम सिंह रावत ने पुरोला खलाड़ी निवासी अंकित रावत व संदीप रावत के खिलाफ तहरीर दी थी। इसके आधार पर पुरोला थाने में धोखाधड़ी, जालसाजी के प्रयोजन से कूटरचना, फर्जी दस्तावेज की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। हाकम सिंह ने बताया कि एक वर्ष पहले पुरोला में आयोजित एक खेल कार्यक्रम में अंकित रावत व संदीप रावत ने अपने को एक स्पो‌र्ट्स कंपनी और निवेश कंपनी का मालिक बताया। कम समय में धनराशि को दोगुना करने और रणजी ट्रॉफी व आइपीएल टीम में चयन कराने का झांसा दिया। धनराशि को दोगुना करने का लालच देकर दोनों भाइयों ने उससे 70 लाख रुपये की धनराशि ठग ली। इसके अलावा देहरादून के रायवाला थाने में भी राजेन्द्र सिंह ने दोनों भाइयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोप लगाया कि संदीप रावत व अंकित रावत ने उसके बेटे का चयन रणजी ट्रॉफी व आइपीएल टीम में करने का झांसा देकर 11 लाख रुपये ठगे। इन दोनों मामलों में फरार चल रहे अंकित रावत को पुरोला थाने की पुलिस ने सोमवार की शाम को नौगांव के पास से गिरफ्तार किया, जबकि दूसरा आरोपित अभी भी फरार है। इसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है।

आरोपी की गिरफ्तार करने वाली टीम में थानाध्यक्ष ऋ तुराज, एसआइ नवीन कुमार, कुलवीर, रोशन मुकेश, औसाफ खान शामिल थे। पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट ने इस टीम को 2500 के पुरस्कार देने की घोषणा की।

देहरादून पुलिस भी लाएगी रिमांड पर:

इस मामले में देहरादून पुलिस आरोपी अंकित रावत को रायपुर थाने में दर्ज एफआईआर की तफ्तीश के लिए प्रोडक्शन वारंट पर रिमांड पर लाएगी।