- कैंट थाने की लॉकअप में लगा सीसीटीवी कैमरा, भेलूपुर सिगरा में तैयारी

- तीन थाने बनाए जा रहे आदर्श, हर तरह की सुविधा होगी मौजूद

जनपद के बदहाल थानों की सूरत धीरे-धीरे बदलने जा रही है. डीजीपी के आदेश पर शहर के तीन थानों को मॉडल या आदर्श थानों के रूप में विकसित करने की कवायद शुरू हुई तो हवालात की निगरानी के लिए भी सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रस्ताव दिया गया. कैंट थाने की लॉकअप में दो कैमरे लगा दिए गए. अगले चरण में सिगरा और भेलूपुर की बारी है. धीरे-धीरे जनपद के सभी थानों के लॉकअप के चेकअप के लिए कैमरे उपलब्ध रहेंगे.

ताकि पारदर्शी रहे पुलिस की कार्रवाई

पुलिस के खिलाफ कई बार बेकसूरों के खिलाफ कार्रवाई या हवालात में बंद कर उत्पीड़न की शिकायतें आती हैं. जनता की मित्र बनने के क्रम में वाराणसी एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने थानों की हवालात की 24 घंटे निगरानी के लिए कैमरे लगाने के आदेश दिए. सबसे पहले कैंट थाने की लॉकअप में कैमरा लगा दिया गया है. इसके अलावा थाने के कार्यालय और मुख्य द्वार पर भी कैमरे इंस्टॉल करा दिए गए हैं, इससे आने-जाने वालों की निगरानी और पुलिस के कामकाज पर भी नजर रखी जा सकेगी.

आठ लाख रुपये का बजट

जनपद के थानों के लिए मुख्यालय से 8 लाख रुपये का शुरुआती बजट मिला है. 25 थानों के लिहाज से यह काफी कम है मगर इससे काम शुरू करा दिया गया. एसएसपी ने सभी थानों की चहारदीवारी ऊंची कराने का भी आदेश दिया है जिसपर जल्द काम शुरू किया जाने वाला है. कैंट के साथ ही आदर्श थाना बनाने के लिए भेलूपुर और सिगरा में भी इंटरलॉकिंग लगाने का काम चल रहा है. इसके अलावा थानों में फरियादियों के लिए पेयजल, बैठने आदि की भी व्यवस्था कराई जाएगी.

बदलने लगी है थानों की सूरत

एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने जनपद का प्रभार संभालते ही थानों की हालत सुधारने के आदेश दिए थे. इस क्रम में सबसे पहले सभी थानों के बाहर वर्षो से खड़े सीज वाहनों को हटवाया गया. इन वाहनों को लिखापढ़ी के बाद पुलिस लाइन और ग्रामीण क्षेत्र के बड़े थानों में भिजवा दिया गया है. कैंट थाने में हवालात में दो कैमरे के अलावा गेट और परिसर में भी कैमरे लगा दिए गए हैं. शहरी क्षेत्र के अन्य बड़े थानों में भी जल्द काम शुरू हो जाएगा.

बयान

जनपद के थानों के सुंदरीकरण के लिए काम शुरू कर दिया गया है. थानों की हवालात और कार्यालय में कैमरे लगाने के पीछे बेहतर निगरानी का मकसद है.

आनंद कुलकर्णी, एसएसपी

कैंट थाने की लॉकअप में दो कैमरे लगा दिए गए हैं. इसके अलावा ऑफिस, मुख्यद्वार और परिसर में भी कैमरे इंस्टॉल हो गए हैं. इनसे 24 घंटे निगरानी कराई जा रही है.

राजीवरंजन उपाध्याय, इंस्पेक्टर कैंट