- मुख्य बाजारों में बंद रही दुकानें, तैनात रही फोर्स

- एनएच-2 पर चक्काजाम और आगजनी कर रहे 50 प्रदर्शनकारी हिरासत में

- सिगरा और कैंटोमेंट स्थित मॉल पर भी उपद्रव की कोशिश

एससीएसटी एक्ट के विरोध में गुरुवार को भारत बंद के आह्वान का वाराणसी में व्यापक असर देखा गया. दोपहर के वक्त कचहरी में अधिवक्ताओं ने कार्य बहिष्कार कर जुलूस निकाला और डीएम पोर्टिको में धरना देने के साथ सरकार विरोधी नारेबाजी की. शहर में कई जगहों पर पुतले और टायर जलाकर प्रदर्शनकारियोंने सरकार के फैसले का विरोध किया और सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को बहाल करने की मांग की. शहर के मुख्य बाजार और मॉल उपद्रव के डर से लगभग पूरे दिन बंद रहे. लंका क्षेत्र में एनएच-2 और बड़ागांव में भी उग्र विरोध किया गया.

अधिवक्ताओं ने सौंपा ज्ञापन

गुरुवार को कचहरी में सेंट्रल और बनारस बार के पदाधिकारियों ने कचहरी परिसर में जुलूस निकाला और कार्यालय बंद करा दिए. अधिवक्ताओं और छात्रों ने डीएम पोर्टिको में भी काफी देर तक धरना और नारेबाजी की. एसीएम (चतुर्थ) नीता यादव को ज्ञापन सौंपा गया. धरना-प्रर्दशन करने वालों में प्रभुनाथ पांडेय, नरेंद्र कुमार श्रीवास्तव, संजय सिंह दाढ़ी, रजनीश कुमार मिश्र, बबलू सिंह, नित्यानंद राय, धीरेंद्र श्रीवास्तव आदि शामिल रहे.

भोजूबीर में झड़प, युवक की पिटाई

शहर भर में निकले प्रदर्शनकारियों ने दुकानें बंद करा दीं. भोजूबीर सब्जी मंडी के पास दुकानें बंद कराने को लेकर दुकानदारों और प्रदर्शनकारियों में झड़प हुई तो अर्दली बाजार में कुछ लोगों ने शैलेष मिश्रा नामक युवक का सिर फोड़ दिया. कैंटोमेंट और सिगरा स्थित मॉल पर भी प्रदर्शनकारियों ने हंगामा किया. हालांकि भारी फोर्स की मौजूदगी के कारण वहां किसी प्रकार की गड़बड़ी नहीं हुई.

बड़ागांव में सिपाही की पिटाई

बड़ागांव थाना क्षेत्र में एनएच-31 पर जाम लगाए युवकों ने थाने के सिपाही को पीट दिया. फोर्स के पहुंचने पर आरोपी भाग निकले मगर पुलिस ने मौके से एक बाइक बरामद की. इसी तरह सुबह लंका क्षेत्र में एनएच-2 पर चक्काजाम और आगजनी कर रहे युवकों को खदेड़ा. बीएचयू के हैदराबाद गेट और सुसुवाहीं क्षेत्र में दुकानें बंद करा रहे 50 प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हिरासत में लेकर डीएलडब्ल्यू पुलिस चौकी पर रखा.

दिनभर पसीना बहाती रही फोर्स

एडीएम सिटी वीरेंद्र सिंह और एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह के अलावा शहर के सभी थानों की फोर्स और सीओ पूरे दिन चक्रमण करते रहे. डीएम सुरेंद्र सिंह और एसएसपी आनंद कुलकर्णी भी शहर के घटनाक्रम पर पूरे दिन नजर बनाए रहे. पुलिस फोर्स के अलावा पीएसी और सीआरपीएफ की कई टुकडि़यों को भी ड्यूटी पर लगाया गया था.