-रेलवे जंक्शन की नई वाशिंग लाइन में दिनदहाड़े हुई वारदात

-बच्ची के चीखने पर वाशिंग लाइन के कर्मचारी ने मौके से आरोपी को पकड़ा

bareilly@inext.co.in

BAREILLY : बरेली जंक्शन की नई वाशिंग लाइन में दिनदहाड़े 11 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्‍कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया. रेलवे जंक्शन पर भटक कर पहुंची बच्ची को महाराष्ट्र का रहने वाला युवक बहाने से अपने वाशिंग लाइन में लेकर गया. यहां पर बरेली-सीतापुर-रेवाड़ी जाने वाली ट्रेन की रिजर्वेशन बोगी में जाकर दुष्‍कर्म किया. बच्ची की चीख सुनकर वहां काम कर रहे कर्मचारी दौड़कर कोच में पहुंचे आरोपी को मौके पर पकड़कर पिटाई की और यूपी 100 को कॉल की. यूपी 100 की पीआरवी तुरंत मौके पर पहुंची. उसके बाद जीआरपी इंस्पेक्टर मौके पर पहुंचे और बच्ची और आरोपी को सुभाषनगर थाना लाया गया. यहां पर बच्ची से पूछताछ के बाद कर्मचारी की तहरीर पर एफआईआर दर्ज कर ली गई. पुलिस बच्ची के परिजनों की तलाश कर रही है.

बच्ची को चाय पिलाने का लालच

बच्ची ने सुभाषनगर थाना में लेडी कांस्टेबल्स के पूछने पर बताया कि वह बिहार की रहने वाली है. वह पिता के साथ मेला देखने निकली थी. वह बता रही थी कि उसकी मां किसी मंदिर में हैं. वह बरेली जंक्शन पर किसी ट्रेन में बैठकर पहुंच गई. यहां पर उसे एक युवक मिला और चाय पिलाने के बहाने ट्रेन से नीचे लेकर गया. उसने बच्ची को 25 रुपए भी दिए. जब बच्ची ने ट्रेन में बैठाने की बात कही तो उसने कहा कि यह ट्रेन उसके घर नहीं जाएगी. दूसरी ट्रेन जाएगी जो वहां पर खड़ी है. इसी बहाने से वह बच्ची को नई वाशिंग लाइन की ओर लेकर गया.

खाली ट्रेन देखी तो हुआ शक

वाशिंग लाइन में धुलाई के लिए बरेली-सीतापुर-रेवाड़ी पैसेंजर ट्रेन खड़ी थी. वह जंक्शन की ओर से खड़ी ट्रेन के हिसाब से आठवें कोच के अंदर लेकर गया. यह कोच रिजर्वेशन का था. वह बच्ची के पास में बैठ गया. कुछ देर बाद बच्ची ने पूछा कि इस ट्रेन में कोई यात्री नहीं है तो युवक ने कहा कि कुछ देर में यात्री आ जाएंगे. उसके बाद युवक ने उसके साथ दुष्‍कर्म किया.

रिजर्वेशन बोगी में की वारदात

वाशिंग लाइन में मौजूद सुपरवाइजर शिवा यादव ने बताया कि त्रिवेणी ट्रेन की सफाई चल रही थी. इसी दौरान दूसरी लाइन पर खड़ी ट्रेन की बोगी से बच्ची के चीखने की आवाज आयी. इस पर वह तुरंत दौड़े. उनके पीछे-पीछे शिवम समेत अन्य कर्मचारी भी आ गए. सभी ने देखा कि युवक बच्ची के साथ दुष्‍कर्म कर रहा था. उन लोगों ने तुरंत आरोपी को पकड़ लिया और फिर यूपी 100 को सूचना दी. यूपी 100 की पीआरवी 0172 मौके पर पहुंची.

महाराष्ट्र का रहने वाला आरोपी

वाशिंग लाइन में वारदात की सूचना पर पीआरवी ने फोन करने वाले को मेन रोड पर बुलाया और फिर पास में ही सुभाषनगर थाना पहुंच गए. यहां पर सूचना देने के बाद कंट्रोल रूम को सूचना दी गई और फिर पीआरवी स्टॉफ पैदल-पैदल वाशिंग लाइन तक पहुंचा. यहां पर युवक से पूछताछ की तो उसने अपना नाम नागनाथ सीताराम तलवारे बताया. वह महाराष्ट्र के भीम नगर लातूर का रहने वाला है. उसने बताया कि वह वाशिंग लाइन में बोतलें बीन रहा था. इसी दौरान बच्ची आ गई तो वह उससे बात करने लगा, जिसके बाद पब्लिक ने उसे पकड़ लिया. जिस वक्त उसे पकड़ा गया, वह शराब के नशे में था. उसने पुलिस की सामने शराब पीने की भी बात स्वीकारी. यही नहीं उसने बच्ची के साथ पकड़ने वालों को भी धमकाया कि पुलिस चाहें उसे मार ले लेकिन वह लोग न मारें.

मामले को दबाने में लगी जीआरपी

जीआरपी इंस्पेक्टर दुष्‍कर्म जैसी वारदातों को भी गंभीरता से नहीं लेते हैं. इससे पहले भी जंक्शन से एक लड़की के अपहरण से दुष्‍कर्म के मामले में कोतवाली पुलिस से विवाद हो चुका है. इस मामले को भी जीआरपी इंस्पेक्टर विजय कुमार ने दबाने की कोशिश की. उन्होंने शिकायतकर्ता से ही कई तरह के सवाल दाग दिए. यही नहीं मामला जीआरपी थाना का होने के बावजूद भी वह बच्ची और आरोपी को पहले सुभाषनगर थाना लेकर पहुंचे. जबकि जीआरपी थाना वहां से लगभग बराबर दूरी पर ही था. यही नहीं यहां सूचना देने वाले से ही तहरीर लिखवायी, जिसमें पहले दुष्‍कर्म की कोशिश की बात लिखवा दी. हालांकि इसी दौरान लेडी कांन्स्टेबल ने बता दिया कि बच्ची दुष्‍कर्म होने की बात कह रही है तो फिर दुष्‍कर्म की तहरीर लिखकर एफआईआर दर्ज की गई.

वाशिंग लाइन भी नहीं सेफ
जंक्शन के आसपास वारदातों का सिलसिला लगातार जारी है. अब वाशिंग लाइन भी सेफ नहीं रह गई है. यहां ज्यादातर गाडि़यों के कोच खुले रहते हैं. जिसकी वजह से कोई भी ट्रेन के अंदर चढ़ जाता है. जब दिन में ही वारदात हो गई तो रात में तो यह एरिया बिल्कुल ही सेफ नहीं है.

बच्ची से वाशिंग लाइन में दुष्‍कर्म की वारदात के आरोपी को पकड़ लिया गया. कर्मचारियों ने ही पकड़ा है और कर्मचारी की तहरीर पर एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है. वारदात को दबाने की कोशिश हुई तो कार्रवाई की जाएगी.

सुभाष चंद्र दुबे, एसपी जीआरपी मुरादाबाद