-दुष्‍कर्म पीडि़ता लगातार थाने में लगाती रही चक्कर लेकिन पुलिस ने नहीं सुनी

-बच्चा पैदा होने के बाद भी आरोपी ने घर में घुसकर बोला हमला

bareilly@inext.co.in
BAREILLY: पुलिस दुष्‍कर्म जैसे गंभीर मामलों में भी लापरवाही बरतने से बाज नहीं आ रही है. सुभाषनगर पुलिस ने भी कुछ ऐसा ही किया और दुष्‍कर्म के मामले को बार-बार सिर्फ मारपीट मानकर टरकाती रही. जबकि पीडि़त महिला लगातार पड़ोसी पर आरोप लगाती रही. यही नहीं दुष्‍कर्म से गर्भवती हुई महिला ने तीन महीने पहले बच्चे को भी जन्म दे दिया. इससे भी खफा दुष्‍कर्म के आरोपी ने महिला के घर में घुसकर जानलेवा हमला किया, जिसमें उसके पति को गंभीर चोटें आयी हैं. इस बार भी पति शिकायत लेकर पहुंचा लेकिन पुलिस ने सिर्फ मारपीट की रिपोर्ट दर्ज की. वेडनसडे को पीडि़त ने मामले की शिकायत एसएसपी से की. एसएसपी के आदेश पर थर्सडे को पुलिस ने दुष्‍कर्म और मारपीट की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली है।

10 जुलाई को पैदा हुई बच्ची

सुभाषनगर निवासी शख्स का आरोप है कि उसकी पत्‍‌नी से पड़ोसी नेपाली ने बच्चे की गर्दन पर चाकू रखकर दुष्‍कर्म किया था. दुष्‍कर्म करने से उसकी पत्‍‌नी गर्भवती हो गई थी. वह कई बार पुलिस के सामने दुष्‍कर्म की शिकायत लेकर पेश हुई, लेकिन उसकी एफआईआर दर्ज नहीं की गई. यही नहीं शिकायतें करने पर आरोपी ने दो बार घर में घुसकर जानलेवा हमला भी बोल दिया. पुलिस ने सिर्फ मारपीट की रिपोर्ट दर्ज की. 10 जुलाई को उसकी पत्‍‌नी ने एक बच्ची को जन्म दिया. जब इसकी शिकायत नेपाली से की तो फिर से मारपीट की गई. आरोप है कि 12 सितंबर को नेपाली अपने साथियों के साथ उसके घर में घुस गया और लाठी-डंडों से उसकी पिटाई की. जिससे उसे गंभीर चोटें आई. एसएचओ जग नारायण पांडे का कहना है कि मामला पैसों के विवाद का है. एफआईआर दर्ज कर ली गई है. मामले में डीएनए जांच भी करायी जाएगी.