- पति-पत्नी के बीच बन रहा दरार का कारण

- रिसर्च के मुताबिक 85 परसेंट महिलाएं अकेलेपन के चलते स्ट्रेस में

देहरादून. सोशल मीडिया पति-पत्नी के बीच दरार का कारण भी बनने लगा है. ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जब सोशल मीडिया पर शादीशुदा लोगों को उनके पुराने दोस्त मिले और उनके बीच प्रेम प्रसंग शुरू हो गया. एक रिसर्च के मुताबिक ऐसे केसेज के चलते कई बार परिवारों में दरार सामने आ रही है और कई बार तो मामला आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने तक पहुंच जा रहा है.

ये कहती है रिसर्च

दून की रहने वाली एक साइकोलॉजिस्ट डॉ. श्रवि अमर अत्री ने करीब दो हजार घरेलू महिलाओं पर जब रिसर्च की, तो पाया कि 85 प्रतिशत महिलाएं घर में अकेले रहने के कारण स्ट्रेस में हैं. महिलाएं टाइम पास के लिए टीवी देखकर और ज्यादा स्ट्रेस में आ रही हैं. ऐसे में वो सोशल साइटस पर अपने पुराने साथियों को सर्च करती हैं. पुराने साथियों से बात करते-करते वो अपने पुराने समय में लौट जाती हैं, ऐसे में कई बार नौबत घर टूटने या किसी आपराधिक घटना को अंजाम देने तक पहुंच जाती है.

--

ऐसे-ऐसे मामले आ चुके सामने

केस वन..

हम हाल ही की बात करें तो एक शिक्षिका को फेसबुक पर उसका कॉलेज का दोस्त मिल गया. कलेज डे की यादें ताजा हुईं तो दोनों में प्यार जाग गया. नौबत यहां तक आ गई कि महिला ने अपने दोस्त की मदद से पति को ही मरवा डाला. अब दोनों जेल में हैं.

केस टू..

बाल आयोग पहुंचे एक मामले की बात करें तो एक नाबालिग युवती की एक 24 वर्षीय युवक से दोस्ती हुई थी. दोस्ती प्यार में बदल गई तो दोनों ने शादी करने की ठान ली, लेकिन घरवाले राजी नहीं हुए. बालिका बाल आयोग पहुंच गई और घरवालों पर मारपीट का आरोप लगाया. घर वापस न जाने की बात कहने पर उसे बालिका निकेतन भेजना पड़ा.

---

ये कहती है रिसर्च

साइकोलॉजिस्ट डॉ. श्रवि अमर अत्री ने बताया कि उन्होंने उत्तराखंड, झांसी, दिल्ली आदि जगहों की महिलाओं पर रिसर्च की. रिसर्च के अनुसार घरेलू महिलाएं अधिक स्ट्रेस की शिकार हो रही हैं. खाली समय में वो जिस तरह का सीरियल देखती हैं वैसी ही सोच रखने लगती हैं. ऐसे में यदि वो सोशल साइट्स की ओर मूव करती हैं तो निर्भर करता है कि यहां किस तरह के व्यक्ति से वह चैट कर रही हैं. अकेले समय में कोई भी बात उन पर हावी हो सकती है. इसलिए पॉजिटिव चीजों के साथ ही अपना समय बिताएं.

--

कोई नहीं रखता ख्याल

रिसर्च में ये बाते भी सामने आई कि घरेलू महिलाओं को यह लगता है कि वो तो घर पर सबका ख्याल रखती हैं लेकिन उनका ख्याल कोई नहीं रखता. ऐसे में वह जब किसी दूसरे व्यक्ति के सामने अपनी बात रखती हैं और वो उनकी बातों में थोड़ा भी इंटरेस्ट लेता है तो महिलाओं को लगता है कि वह उनकी केयर कर रहा है. ऐसे में धीरे-धीरे उनका झुकाव भी उस ओर होने लगता है.

--

पांच मामलों में करा चुकीं सलाह

डॉ. श्रवि ने बताया कि फेसबुक से जुड़े हुए कई मामले उनके पास पहुंचे हैं. ऐसे पांच मामलों में वह पति-पत्नी के बीच सलाह भी करा चुकी हैं. ये मामले पति और पत्‍‌नी के बीच सोशल साइट्स को लेकर ही चल रहे थे. किसी में पति को पत्‍‌नी के फेसबुक यूज करने से दिक्कत थी तो किसी में पत्‍‌नी को पति के. स्थिति डाइवोर्स तक पहुंच गई थी.