-चौकाघाट पंपिंग स्टेशन के पास हुई घटना, एक की बॉडी बरामद, दूसरे की तलाश जारी

-मैनहोल में मरम्मत कार्य के दौरान जहरीली गैस की चपेट में आने से गई जान

VARANASI:

चौकाघाट स्थित पंपिंग स्टेशन से लिंक अप मैनहोल में उतरे दो मजदूरों की जहरीली गैस से मौत हो गई. घटना शनिवार दोपहर 12.30 बजे हुई. इस मेनहोल में मरम्मत कार्य के दौरान मैनहोल में मौजूद जहरीली गैस की चपेट में आकर एक मजदूर अचेत होकर अंदर की ओर गिर गया, उसे बचाने के लिए जब दूसरा आगे बढ़ा तो वह भी मेनहोल में समा गया. दोनों मजदूर बिहार के रहने वाले थे, जो रिश्ते में चाचा, भतीजा बताए जा रहे है. फिलहाल पुलिस ने कॉन्ट्रेक्टर को हिरासत में ले लिया है.

सूचना मिलते ही पहुंची टीम

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर अफरातफरी मच गई. हादसे की सूचना पर पहुंची एनडीआरएफ टीम दोनों को निकालने के लिए जुट गई. घंटों तक दोनों का पता नहीं चला. जिसकी वजह से अंदेशा प्रबल हो गया कि दोनों की ही मौत हो चुकी है. काफी प्रयासों के बाद देर शाम एनडीआरएफ टीम ने एक मजदूर का शव बरामद कर लिया लेकिन दूसरे की तलाश रात तक चलती रही.

पीएम को करना है उद्घाटन

चौकाघाट पंपिंग स्टेशन का पीएम मोदी 12 नवंबर को उद्घाटन करने वाले हैं. जिसके लिए जलनिगम गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई की ओर से आसपास से गिर रहे नालों को पंपिंग स्टेशन से जोड़ने का काम चल रहा था. इस दौरान एक बड़े से मेनहोल मरम्मत के लिए आधा दर्जन मजदूर उतरे थे. उसी बीच बोरवेल से निकल रही जहरीली गैस की चपेट में आकर एक मजदूर वही गिर गया, जिसे बचाने के लिए दूसरा आगे बढ़ा और वह भी सीवर में समा गया. यह देख बाकी मजदूर बाहर निकल आए. मरने वाले विकास पासवान और दिनेश पासवान निवासी मदुरना, हाटा थाना चैनपुर जिला भभुआ बिहार के हैं. दोनों मकान निर्माण के लिए काम करते थे. लेकिन कांट्रेक्टर पैसे का लालच देकर सीवर सफाई के लिए ले आया था.