- सारनाथ पुलिस ने पुरानी करेंसी 47 लाख रुपये संग दो युवकों को दबोचा, कब्जे से बाइक भी बरामद

नोटबंदी के दौरान चलन से बाहर हुए एक हजार व पांच सौ के नोट बदलने का धंधा अभी भी जारी है. सारनाथ पुलिस ने इसका खुलासा दो आरोपियों को दबोचते हुए कब्जे से मिले 47 लाख रुपये की पुरानी करेंसी से की है. प्रतिबंधित नोट को बदलने की फिराक में बाइक से निकले आरोपियों को सारनाथ प्रभारी निरीक्षक दिनेश प्रकाश पांडेय ने मुखबिर की इंफॉरमेशन पर दबोचा. पकड़े गए आरोपियों में विकास सिंह निवासी कपसेठी और देवेंद्र सिंह फूलपुर निवासी बताए गए हैं.

सरगना की तलाश तेज

पुरानी करेंसी पकड़ जाने की सूचना मिलने के बाद शुक्रवार को एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह, एसपी क्राइम ज्ञानेंद्रनाथ और सीओ कैंट डॉ. अनिल कुमार ने सारनाथ पुलिस की पीठ थपथपाई. सारनाथ थाना प्रभारी दिनेश पांडेय ने बताया कि गुरुवार को मुखबिर से सूचना मिली थी कि बाइक सवार दो युवक सारनाथ इलाके में बंद हुई करेंसी खपाने आ रहे हैं. शिवपुर से रिंग रोड होकर सारनाथ की ओर आने की जानकारी मिलते ही टीम के साथ घेरोबंदी करते हुए पुलिस ने दबोच लिया. तलाशी के दौरान एक के पास एक-एक गड्डी में 1000 रुपये के पुराने नोट 17 लाख रुपये और दूसरे के पास बंद हुए 1000 रुपये के नोट 30 गड्डी कुल 30 लाख रुपये बरामद हुआ.

गिरफ्तारी टीम में इंस्पेक्टर हिमेंद्र कुमार सिंह, प्रवीण कुमार यादव, एसएसआई अवधेश तिवारी, एसआई राजू दिवाकर, एसआई संतोष कुमार यादव, जितेंद्र यादव, मुकेश यादव, शक्ति सिंह यादव आदि रहे.