-चेतगंज थाना के बाहर धरने पर बैठ नारेबाजी कर रहे थे कार्यकर्ता, लाठीचार्ज में दर्जनों कार्यकर्ता समेत राहगीर जख्मी

चेतगंज पुलिस पर दु‌र्व्यवहार का आरोप लगाते हुए थाना के बाहर धरना दे रहे एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर बुधवार की रात पुलिस ने लाठीचार्ज कर दी। जिससे सड़क पर मची अफरा-तफरी के बीच एबीवीपी महामंत्री व कार्यकर्ता, पत्रकार समेत कई राहगीर घायल हो गए। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंच डैमेज कंट्रोल में जुट गए।

विरोध में कर रहे थे नारेबाजी

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद महानगर के कार्यकर्ताओं का आरोप था कि थाना प्रभारी निरीक्षक मामला सुनने की बजाय उल्टे कार्यकर्ताओं पर ही मुखर हो गए। फर्जी मुकदमें और पिस्टल के संग गिरफ्तारी की धमकी देने लगे। मामले की भनक लगते ही काशी विद्यापीठ, संस्कृत यूनिवर्सिटी, हरिश्चंद्र पीजी कॉलेज ईकाई के भी दर्जनों कार्यकर्ता थाना पहुंच प्रभारी निरीक्षक समेत अन्य पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर विरोध दर्ज कराने लगे। थाना प्रभारी निरीक्षक के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लग रहे थे तभी आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने धरने पर बैठे कार्यकर्ताओं पर लाठी भांजना शुरू कर दी। रात के अंधेरे में सड़क पर भगदड़ का माहौल बन गया और कई बाइक सवार, आटो सवार जख्मी हो गए। महानगर महामंत्री शिवम सिंह समेत एक दर्जन कार्यकर्ता चोटिल हुए है।

अलग-अलग तर्क

एबीवीपी कार्यकर्ताओं का कहना था कि पार्टी से जुड़े एक कार्यक्रम की परमिशन के लिए थाना पहुंचे थे। हालांकि पुलिस का कहना है कि शाम के समय छेड़खानी के आरोप में दो युवकों को थाना में बैठाया गया था। उन्हीं को छुड़ाने की पैरवी में कार्यकर्ता लामबंद होकर आए थे।