-मनमोहन पार्क चौराहे पर बाइक सवार बदमाशों ने की थी अधिवक्ता राजेश श्रीवास्तव की गोली मारकर हत्या

-हत्याकांड का मुख्य साजिशकर्ता करीब एक साल बाद चढ़ा पुलिस के हत्थे

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: मनमोहन पार्क चौराहे के पास डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के अधिवक्ता राजेश श्रीवास्तव की हत्या के करीब एक साल बाद मुख्य साजिशकर्ता आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ गया। 10 मई 2018 को डिस्ट्रिक्ट कोर्ट जाते समय लबे सड़क हुए हत्याकांड के मास्टरमाइंड अंजनी श्रीवास्तव को पुलिस ने सोहबतियाबाग पेट्रोल पम्प के पास से गिरफ्तार किया। घटना के बाद से पुलिस को मुख्य साजिशकर्ता की तलाश थी। इस दौरान पुलिस ने कई जगह छापेमारी भी की थी। इसके बाद भी पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली थी। पुलिस ने मुख्य साजिशकर्ता अंजनी श्रीवास्तव के ऊपर 25 हजार का इनाम भी घोषित किया था।

मुख्य आरोपी से पूछताछ में सामने आया था नाम

बीते साल 10 मई को अधिवक्ता राजेश श्रीवास्तव की हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने रामबाग स्थित होटल मालिक प्रदीप जायसवाल और दो अज्ञात शूटरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज जांच शुरू कर दी। इस दौरान पुलिस ने होटल मालिक प्रदीप जायसवाल को गिरफ्तार कर लिया था। पूछताछ के दौरान बिचौलिए और शूटर उपलब्ध कराने वाले घनश्याम अग्रहरि और अंजनी श्रीवास्तव का नाम सामने आया था। पुलिस ने प्रतापगढ़ के दोनों शूटरों विशाल व रईस तथा बिचौलिए घनश्याम अग्रहरि को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन अंजनी श्रीवास्तव अभी तक फरार चल रहा था।