- आटो और ई-रिक्शा की अराजकता पर नकेल कसने को पुलिस ने शुरू किया अभियान

शहर में आटो और ई-रिक्शा की अराजकता पर नकेल कसने के लिए पुलिस ने 15 दिन का अभियान शुरू किया है. इस क्रम में पुलिस जल्द ही एक एप विकसित करेगी. इसपर कोई भी यात्री खासकर महिलाएं सवार होते ही क्यूआर कोड से रजिस्टर कर लेंगे. इसके जरिए जरूरत पड़ने पर आटो चालक की मॉनीटरिंग की जा सकेगी.

एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि इसके साथ ही शहर की सड़कों पर यातायात सुचारू करने के लिए तैयारियां की जा रही हैं. सड़क पर वाहन खड़े करने या अतिक्रमण करने वालों को चेतावनी देने के बाद एफआईआर किया जाएगा. इसके अलावा नाबालिग बच्चे अगर ई-रिक्शा रिक्शा चलाते मिले तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी. आटो और ई-रिक्शा में दाहिने से सवारी बैठाने पर भी बैन लगाने की तैयारी हो रही है. इसके लिए उन्हें 15 दिन की मोहलत दी जाएगी. शहर के प्रेशर हॉर्न के खिलाफ भी व्यापक अभियान चलाया जाएगा.

40 वाहन किये गये सीज

एसपी ट्रैफिक सुरेशचंद्र रावत ने बताया कि गुरुवार को चलाए गए अभियान के दौरान 47 वाहनों से ब्लैक फिल्म, 23 वाहनों से प्रेशर हार्न और एक वाहन से हूटर उतरवाया गया और चालान किया गया. इसी तरह 39 आटो और ई-रिक्शा का चालान और 40 वाहन सीज किए गए.