patna@inext.co.in

PATNA: पटना पुलिस को अपराधियों ने फिर बड़ी चुनौती दी है. हथियार से लैस बदमाश सुबह-सुबह नौबतपुर एरिया में एक माइक्रो फाइनेंस कंपनी से 10 लाख रुपए लूट लिए. घटना नौबतपुर के किछौल रोड में स्थित कंपनी के ऑफिस में हुई. पुलिस मामले की जांच कर रही है लेकिन प्रथम दृष्टया मामला फेक लग रहा है. हालांकि पुलिस का कहना है कि जांच में दूध और पानी सब साफ हो जाएगा.

ब्रांच मैनेजर की जुबानी घटना

माइक्रो फाइनेंस कंपनी के ब्रांच मैनेजर विजय के मुताबिक वह एक स्टाफ के साथ ब्रांच में सोमवार की सुबह मौजूद था. कुछ काम करने के बाद स्टाफ चला गया. चंद मिनटों बाद ही 3 लोग ब्रांच के अंदर आ गए. तीनों ने गमछा से अपने फेस को कवर कर रखा था. पिस्टल दिखा कर उनको अपने कब्जे में लिया. उसके सामने पिस्टल में एक गोली डाली. इसके बाद कैश के बारे में पूछा. अपराधी लॉकर की चाबी के बारे में पूछने लगे. जब ब्रांच मैनेजर ने कोई जानकारी नहीं दी तो उसे अपराधियों ने मारा भी. लॉकर की चाबी एक बैग में रखी थी, जिसे अपराधियों ने ढूंढ निकाला. चाबी लेकर लॉकर को खोलने के लिए कहा गया. वहां दो लॉकर थे, एक खाली और दूसरे में कैश रखा था. डर के कारण पहले खाली वाला लॉकर खोला. उसमें कैश नहीं मिलने पर अपराधी दूसरा लॉकर खोलने के लिए दबाव बनाने लगे.

ब्रांच मैनेजर का कहना बदमाशों चाबी छीन लिया और खुद लाकर खोल लिया. वह उसमें रखा 10 लाख रुपए लूट कर भाग गए. विजय का कहना है कि भागने से पहले अपराधियों ने वहां मौजूद नारियल की रस्सी से उसे कुर्सी पर बैठकर बांध दिया था और गेट को बाहर से बन्द कर दिया था. रस्सी को किसी तरह से उसने खोला और फिर खिड़की पर जाकर आवाज दिया. पास में गिट्टी-बालू बेचने वाले एक व्यक्ति के स्टाफ ने उसकी आवाज सुनी, तब जाकर बाहर से लॉक गेट को खोला गया. इसके बाद मामले की जानकारी विजय ने अपने जोनल हेड और पुलिस को दी. बताया गया कि लूटे गए कैश कलेक्शन के थे. पुलिस का कहना है कि मामला संदिग्ध है.