- ब्यूरी पार्लर संचालिका समेत दो गिरफ्तार

- उधार में ली गयी रकम वापस नहीं करना चाहते थे आरोपी

- फरवरी माह में कोर्ट के आदेश पर दर्ज की गई थी रिपोर्ट

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : सआदतगंज में रहस्मय हालात में हुई महिला की मौत का राज दस महीने बाद खुला. विसरा रिपोर्ट में उसे जहर देकर मारने की पुष्टि हुई. जिसके बाद पुलिस ने हत्यारोपी ब्यूटी पार्लर संचालिका और बिजली मिस्त्री को गिरफ्तार किया है. मृतका की बहन ने हत्या की आशंका जताई थी, लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की थी. उसने कोर्ट की शरण ली और तीन महीने बाद केस दर्ज हुआ. दस महीने की जांच के बाद हत्या का खुलासा हुआ. पुलिस ने ब्यूटी पार्लर संचालिका और उसके एक सहयोगी को गिरफ्तार किया है.

विसरा रिपोर्ट में हुई जहर देने की पुष्टि
सआदतगंज के वजीरबाग इलाके में रहने वाली कमरूननिशा उर्फ रूकसाना का पति अशफाक खाड़ी देश में रहकर नौकरी करता था. 17 नवंबर 2017 को रूकसाना की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. इस मामले में उसकी बहन नजमी ने हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस से शिकायत की थी. हालांकि पुलिस ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज नहीं की थी. इस मामले में नजमी ने कोर्ट की शरण ली थी. कोर्ट के आदेश पर फरवरी 2018 में सआदतगंज निवासी रूकसाना के पति अशफाक, ब्यूटी पार्लर संचालिका नीलोफर बिजली मैकेनिक सैफ और दानिश के खिलाफ हत्या, लूट और साजिश रचने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. सात माह की लंबी विवेचना और विसरा रिपोर्ट के आने के बाद पुलिस को इस बात का पता चला कि रूकसाना को जहर देकर मारा गया था.

पैसा हड़पने के लिए रची थी साजिश
छानबीन में पुलिस को पता चला कि आरोपी नीलोफर, सैफ ने रूकसाना से लाखों रुपये उधार लिये थे. वह लोग उधार में ली गयी रकम वापस नहीं करना चाहते थे. बस इसी के चलते आरोपियों ने रूकसाना को जहर देकर मार दिया. अब इस मामले में पुलिस ने ब्यूरी पार्लर संचालिका नीलोफर, बिजली मैकेनिक सैफ को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस का कहना है कि नामजद आरोपी दानिश की तलाश की जा रही है. वहीं पुलिस का तर्क है कि अभी तक की गयी छानबीन में रूकसाना के पति अशफाक की भूमिका नहीं मिली है, क्योंकि वह घटना के समय विदेश में था.