- सरोजनीनगर में घटना से हड़कंप

- गार्ड की एके-47 राइफल से किया ब‌र्स्ट फायर

- कुछ दिन पहले हवलदार को मिला था मिसकंडक्ट

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: सरोजनीनगर स्थित सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर में शनिवार को एक हवलदार ने गार्ड की एके-47 राइफल से खुद को गोली से उड़ा लिया. गोली चलने की आवाज से सीआरपीएफ सेंटर में हड़कंप मच गया. आनन-फानन घटना की सूचना पुलिस को दी गई. सीआरपीएफ ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर सुसाइड के पीछे पारिवारिक कलह होना बताया है. वहीं, पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

फोन पर की बात, फिर कर लिया सुसाइड

मेरठ के किठौर स्थित गोविंदपुर निवासी हवलदार अरविंद कुमार सिंह (47) सरोजनीनगर के बिजनौर में स्थित सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर में मेस कमांडर के पद पर कार्यरत था. वह परिसर की सिविल बैरक में अकेले रहता था. पुलिस के मुताबिक, कुछ दिनों पहले किसी वजह से अरविंद को विभागीय अधिकारियों ने मिसकंडक्ट दिया था. शनिवार को उसे मेस का चार्ज किसी दूसरे हवलदार को देना था. हालांकि, शनिवार को सुबह से हवलदार अरविंद साइकिल लेकर कहीं चला गया. दोपहर करीब 12.45 बजे वह वापस लौटा और गार्ड रूम के करीब साइकिल खड़ी कर दी. इसके बाद वह किसी से मोबाइल पर बात करने लगा. बात करने के बाद वह सीधे गार्ड रूम में दाखिल हुआ और वहां तैनात हेड कॉन्सटेबल अनिल कुमार की एके-47 राइफल उठाकर बायीं कनपटी से सटाकर ब‌र्स्ट फायर कर दिया.

सेकेंड भर में चली 6 गोलियां

गोली उसकी दायीं कनपटी को पार करते हुए पार निकल गई. इसके साथ ही कुछ गोलियां उसके बाएं हाथ में भी लगीं और वह लहूलुहान होकर जमीन पर धराशायी हो गया. गोली चलने की आवाज से ग्रुप सेंटर में हड़कंप मच गया. पहले सीआरपीएफ कर्मियों ने समझा कि सेंटर पर आतंकी हमला हुआ है. वे अपने हथियार लेकर मौके पर पहुंचे लेकिन, वहां का नजारा देख उनके होश उड़ गए. वहां हवलदार अरविंद लहूलुहान हालत में पड़ा हुआ था. राइफल भी उसके बगल में पड़ी थी. साथियों ने उसे उठाकर आनन-फानन सेंटर में स्थित हॉस्पिटल पहुंचाया जहां डॉक्टर्स ने उसे डेड डिक्लेयर कर दिया. मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने पुलिस को घटना की सूचना दी. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा और राइफल व वहां बरामद 16 खोखे व मैगजीन को कब्जे में ले लिया. पुलिस के मुताबिक, मृतक के परिवार में पत्नी सुशीला, बेटा मनीष (9) और बेटी तनु (14) है.

बॉक्स................

सुसाइड की वजह पारिवारिक कलह

सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर के कमांडेंट श्यामचंद्र डे ने विज्ञप्ति जारी कर बताया कि प्रारंभिक जांच के बाद सुसाइड की वजह पारिवारिक कलह लग रही है. वहीं, इंस्पेक्टर सरोजनीनगर राम सूरत सोनकर ने बताया कि घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है, सुसाइड की वजहों की पड़ताल की जा रही है.