-हिन्दुस्तानी एकेडमी में जून क्रांति महोत्सव में बही काव्य की रसधारा

-कवियों की रचनाओं ने श्रोताओं को किया मंत्रमुग्ध

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: सिटी की साहित्यक संस्थाओं के सहयोग से हिन्दुस्तानी एकेडमी में बुधवार को जून क्रांति महोत्सव आयोजन समिति की ओर से भव्य समारोह 'शब्द गर्जना' का आयोजन हुआ. इसमें अलग-अलग अंदाज में काव्य पाठ ने श्रोताओं को झूमने पर मजबूर कर दिया. शब्द गर्जना नाम से अलंकृत कार्यक्रम में मुख्य अतिथि इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस अशोक गुप्ता रहे. जस्टिस अशोक गुप्ता ने कहा कि साहित्यकारों का सम्मान राष्ट्र का सम्मान है. शहीदों की याद में आयोजित ऐसे कार्यक्रम शहर के लिए भी ऐतिहासिक छड़ जैसा है. जब भी हम अपने पूर्वजों को याद करते हुए उनके बताए मार्ग पर चलने की बात कहते हैं तो आने वाली पीढ़ी भी उससे प्रेरणा लेती है. ऐसी सोच समाज को सही दिशा देती है. इस दौरान अन्य वक्ताओं ने भी अपने विचार रखे.

साहित्यकार, शिक्षाविद सम्मानित

हिन्दुस्तानी एकेडमी में चल रहे कार्यक्रम के दौरान साहित्यकारों व शिक्षाविदों को सम्मानित भी किया गया. इस दौरान प्रसिद्ध शिक्षाविद् डॉ. शैलेश कुमार पाण्डेय को शिक्षा के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट कार्यो के लिए मौलाना अबुल कलाम आजाद सम्मान दिया गया. इस मौके पर नवगीतकार सुधांशु उपाध्याय को हरिवंश राय बच्चन सम्मान, ध्रुवेन्दु भदौरिया को राष्ट्रकवि मैथलीशरण गुप्त सम्मान, डॉ. कमलेश राजहंस को रामधारी दिनकर सम्मान, डॉ. सौरभ सुमन को डॉ. श्याम नारायण पाण्डेय सम्मान डॉ. रूचि चतुर्वेदी को डॉ. सुभद्रा कुमारी चौहान सम्मान से सम्मानित किया गया. डॉ. एके वर्मा को शिक्षा गौरव, राजू मरकरी को सांस्कृतिक सम्मान, सुधीर द्विवेदी को सामाजिक एवं सांस्कृतिक सम्मान से सम्मानित किया गया. इस दौरान अन्य शिक्षाविदों, साहित्यकारों को भी अलग-अलग सम्मान से सम्मानित किया गया. कार्यक्रम का संचालन डॉ. आभा श्रीवास्तव ने किया.