-गंगा पाथ-वे की योजना का विरोध कर रहे लोगों ने मनाया काला दिवस

-273 मकानों के अधिग्रहण के प्रस्ताव का विरोध कर रही धरोहर बचाओ समिति

varanasi.

महाशिवरात्रि पर मंगलवार को हर कोई भक्ति में लीन था तो विश्वनाथ मंदिर परिक्षेत्र के कई पुराने मकान ऐसे भी थे जहां काले झंडे टंगे हुए थे. दरअसल गंगा पाथ-वे और विश्वनाथ मंदिर कॉरीडोर योजनाओं का यह लोग विरोध कर रहे थे. योजना के तहत परिक्षेत्र के 273 मकानों को तोड़कर रास्ता तैयार करना है.

खुफिया विभाग ने भेजी रिपोर्ट

सोमवार की शाम ही नेपाली खपड़ा, ब्रह्मनाल, नीलकंठ, लाहौरी टोला, विश्वनाथ मंदिर व आसपास के मोहल्लों में लोगों ने घरों और दुकानों पर काले झंडे टांगने शुरू कर दिए. कहीं-कहीं सुरक्षाबलों से नोकझोंक भी हुई. खुफिया विभाग ने रिपोर्ट भेजी तो प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए. क्षेत्रीय लोगों ने धरोहर बचाओ समिति का गठन कर कॉरीडोर योजना का विरोध करने का फैसला लिया है. क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि क्षेत्र में सैकड़ों साल पुराने मकान हैं. यहां के लोगों का जीवन काशी विश्वनाथ मंदिर से सीधे जुड़ा हुआ है. संस्कारों और परंपराओं में भी यह शामिल है. ऐसे में इन मकानों को तोड़कर रास्ता बनाना और इनमें रहने वालों को बेघर कर देना कहीं से न्यायसंगत नहीं है.