छापेमारी कर कस्टम ने बरामद किया 972 चाइनीज स्मार्टफोन

पटना बन रहा है कि तस्करी का नया अड्डा

गांधी मैदान स्थित ट्विन टावर के एक लैट में हुई छापेमारी

PATNA:

यदि आप स्मार्ट फोन खरीदने वाले हैं तो सचेत हो जाइए. मोबाइल फोन खरीदते समय आपके साथ फर्जीवाड़ा हो सकता है. चाइनीज मोबाइल आपके हाथों में थमा कर ओरिजनल ब्रांड के पैसे लिए जा सकते है. इसका खुलासा तब हुआ जब मंगलवार को कस्टम विभाग की टीम ने राजधानी के गांधी मैदान स्थित ट्विन टावर के एक लैट में छापेमारी कर 972 चाइनीज स्मार्ट फोन को बरामद किया. बरामद किए गए स्मार्टफोन की कीमत 20 लाख रुपये बताई जा रही है. लेकिन इस मामले में किसी की गिरतारी नहीं हो पाई है. जानकारी के मुताबिक धंधे से जुड़े लोग इन चाइनीज मोबाइल को अन्य ब्रांडेड मोबाइल के रैपर में पैक कर मार्केट में बेचने की तैयारी में थे.

आम लोग ठगे जा रहे

जांच में पता चला है कि इस धंधे से जुड़े लोग बहुत ही शातिर तरीके से लोगों को अपने ठगी का शिकार बनाते हैं. चाइनीज मोबाइल को किसी महंगे ब्रांडेड कंपनी के रैपर में पैक कर महंगे में बेचा जाता है. बताया जा रही है कि इसके जरिए हर दिन हजारों की संया में ठगी का शिकार बन रहे हैं. साथ ही सरकार को भी लाखों का चूना लगा रहा है. जानकार बताते हैं कि इसे पकड़ने के लिए कोई मौकेनिज्म नहीं है.

एक बड़ा नेटवर्क कर रहा है काम

पिछले दिनों पकडे़ गए सोने के तस्कर से पूछताछ में पता चला था कि वह सोना से लेकर मोबाइल का तस्करी करता है. उसके गिरोह में बड़ी संया में लोग काम करते हैं. गिरोह में सभी का काम बंटा हुआ है. उसने खुलासा किया था कि गिरोह का काम सिर्फ माल को अपने एजेंट तक पहुंचाना होता है.

नेपाल और बांग्लादेश बने कॉरिडोर

पिछले पांच दिनों में यह चौथा मौका है जब कस्टम की टीम ने बिहार आने वाली ट्रेन और गया के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से लाखों रुपए के तस्करी के समान को पकड़ा है. जांच में पता चला है कि तस्कर नेपाल और बांग्लादेश के रास्ते मोबाइल के साथ ही अन्य समान को तस्करी कर समान को पटना पहुंचा रहा है. विभाग के मुय आयुक्त केसी गुप्ता के मुताबिक उत्तर-पूर्व के राज्यों से बिहार में और खासकर पटना में तस्कर माल को पहुंचा रहा है.

सोने की भी हो रही तस्करी

पिछले सप्ताह गया के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा से मो. गुलाम सरवर नामक एक व्यक्ति को 1.6 किलो सोने के बिस्कुट और सोने की छड़ के साथ पकड़ा गया था. पकड़ा गया शस पिछले कुछ महीनों में कई बार विदेशों का चक्कर लगा चुका है. इससे पहले पटना जंक्शन से 5 करोड़ का सोना पकड़ा गया था. जानकारी के मुताबिक पिछले कुछ दिनों में तस्करी के मामले में बढ़ोतरी हुई है. तस्कर तस्करी के लिए नया-नया तरीका ढूंढ रहा है. पटना स्टेशन से पकड़े गए तस्कर ने ट्रॉली बैग के हैंडल में एक गुप्त स्थान बना रखा था जिसमें सोने के बिस्कुट और छड़ों को छुपाकर लाता था. सोने पर इस तरह के टेप चढ़ाए देता था कि लगेज एक्सरे में सोना नजर नहीं आता था.

हाल में पकड़े गए समान

8 फरवरी को पाटलिपुत्र स्टेशन पर खड़ी नॉर्थ-ईस्ट एक्सप्रेस के एसएलआर बोगी से 1900 किलो कालीमिर्च और 540 जोड़े विदेशी जूते को किया गया बरामद

9 फरवरी को भी पाटलिपुत्र स्टेशन पर नॉर्थ-ईस्ट ट्रेन से ही 600 किलोग्राम कालीमिर्च, 972 जोड़े विदेशी जूते और कोरिया निर्मित चार कार्टन सिगरेट बरामद किए गए थे

जनवरी में पाटलिपुत्र स्टेशन पर खड़ी नॉर्थ-ईस्ट ट्रेन के एसएलआर बोगी से 25 करोड़ का सिगरेट बरामद किया गया

जनवरी में नॉर्थ-ईस्ट एक्सप्रेस के एसी बोगी से एक आदमी के पास से 5 किलो सोना को बरामद किया