क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ :खूंटी सहयोग विलेज में रखी गई बच्ची पालो टूटी की मौत मामले में डीसी महिमापत रे ने सीडब्ल्यूसी से स्पष्टीकरण मांगा है. इसके पूछा गया है कि आखिर पालो टूटी की मौत कैसे हुई. इसकी जिम्मेवारी किस पर बनती है. डीसी ने सीडब्ल्यूसी से पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है. इधर, सीडब्ल्यूसी ने पालो टूटी की मौत पर अफसोस जताया है.

जबरन सौंपा दूसरे का बच्चा

सहयोग विलेज की ओर से दूसरे का बच्चा एक पैरेंट्स को सौंप दिया गया. जब उनलोगों ने विरोध किया तो कहा गया कि बच्चा लेना है तो लो, नहीं तो रांची में अपने बेटे सागर को खोजना. बताया जाता है कि 13 अगस्त को एक बच्चे को सहयोग विलेज में रिटर्न कर दिया गया था, क्योंकि वह दूसरे का बेटा था. एक के पिता का नाम बुधु कांडिर है और उसका बेटा सागर कांडिर है. लेकिन उसे दूसरे का बेटा मंगरा नाग जबरन सौंप दिया गया. बाद में जब विरोध किया गया तो फिर बच्चे को वापस रखा गया.

दोषियों पर हत्या का दर्ज हो मामला: बाबूलाल

सहयोग विलेज खूंटी में भूख से 3 बच्चों की मौत के खिलाफ शुक्रवार को जन आवाज के आह्वान पर रांची में प्रदर्शन हुआ. प्रदर्शन जिला स्कूल से शुरू हुआ जो अल्बर्ट एक्का चौक पर जाकर सभा में तब्दील हो गई. झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने कहा कि सीडब्ल्यूसी और सरकार की देखरेख में बच्चों की भूख से मौत हुई है, इसकी न्यायिक जांच होनी चाहिए. बाल कल्याण पदाधिकारी कंचन सिंह, सीडब्ल्यूसी रांची की रूपा वर्मा, सीडब्ल्यूसी खूंटी के बैजनाथ कुमार और सहयोग विलेज खूंटी के संचालक मनजीत सिंह पर हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए. उन्होंने कहा कि बैजनाथ कुमार खूंटी का सदस्य कैसे बना, जिसके ऊपर राज्यसभा चुनाव में विधायकों की खरीद-बिक्री की दलाली का मामला दर्ज है. उन्होंने कहा कि अगर अब कोई बच्चा कुपोषण और भूख से मरा तो उसे सीडब्ल्यूसी कार्यालय में दफनाया जाएगा. गरीब और अनाथ बच्चे पर अन्याय सरकार बंद करे.

परिजनों को 10 लाख मुआवजा मिले : बंधु तिर्की

अल्बर्ट एक्का चौक में सभा को संबोधित करते हुए जेवीएम के महासचिव बंधु तिर्की ने कहा की निर्मल शिशु भवन से उठाए गए सभी बच्चों को अविलंब वहां वापस किया जाए. मृतक बच्चों के परिजनों को 10-10 लाख मुआवजा दिया जाए.

सभी शिशु भवनों की जांच हो: सुनिता सिंह

जन आवाज की अध्यक्ष सुनिता सिंह ने कहा कि रांची सहित झारखंड में जितने भी शिशु भवन हैं सब पर जांच बिठाई जाए और अनियमितता पाए जाने पर अविलंब कार्रवाई हो. उन्होंने सहयोग विलेज खूंटी को अविलंब बंद कर उस पर जांच बिठाने की मांग की. महासचिव मेरी तिर्की ने कहा कि मृतक सभी बच्चों को न्याय दिलाने के लिए संघर्ष जारी रहेगा. कांग्रेस की सुंदरी तिर्की ने कहा कि बच्चों को मारने वाली सरकार को दफनाने की जरूरत है.