ऑनलाइन ठगी के शिकार सात लोगों को लौटाई गई डूबी रकम

नोटबंदी के बाद कैशलेस की राह में बने थे साइबर शातिरों का शिकार

ajeet.singh@inext.co.in

ALLAHABAD: नोटबंदी के बाद कैशलेस की राह पर निकले और थोड़ी सी असावधानी में तगड़ी चोट खा बैठे. साइबर शातिरों ने दर्जनों लोगों को शिकार बनाते हुए लाखों का माल पार कर दिया. इस चोट से कराह रहे सात लोगों की डेढ़ लाख से ज्यादा डूबी रकम को अपनी मेहनत के दम पर वापस कर साइबर सेल ने इन्हें बड़ी राहत प्रदान की.

सबसे ज्यादा मामले पीएनबी

साइबर सेल के मुताबिक नोटबंदी के बाद ऑनलाइन फ्राड के सबसे ज्यादा मामले पीएनबी बैंक के एकाउंट होल्डर्स के साथ घटित हुए. इंस्पेक्टर कर्नलगंज मनोज तिवारी बताते हैं कि पिछले डेढ़ महीने के अंदर एरिया में स्थित पीएनबी शाखा के एक दर्जन से अधिक एकाउंट होल्डर्स ऑनलाइन फ्राड का शिकार हुए. सभी मामलों की रिपोर्ट दर्ज कर जांच की जा रही है.

इन्हें मिला वापस पैसा

सरफराज नवाब-27 हजार

संग्राम सिंह-43,234 रुपए

विपिन कुमार- 31 हजार रुपए

मीना सहगल-20,073 रुपए

रमेश कुमार-22,500 रुपए

गौरव तिवारी-8,068 रुपए

जाबिर अली-4,133 रुपए

नोटबंदी के बाद फ्राड के मामले

बैंक केस

पंजाब नेशनल बैंक 19

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 07

इलाहाबाद बैंक 02

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया 01

कमजोर टेक्नोलॉजी दे रही झटका

देश कैशलेस की राह पर चल तो पड़ा है, लेकिन सिक्योरिटी सिस्टम लचर होने के कारण इस राह में लोगों को तगड़ा शॉक लग रहा है. साइबर शातिर बड़ी चालाकी से लोगों को बैंक अधिकारी बनकर फोन करते हैं. उनसे कार्ड पर लिखा 16 डिजिट का नंबर और कार्ड पर लिखा चार अंकों का कार्ड वेरीफिकेशन वैल्यू नम्बर पूछते हैं. उसके बाद ऑनलाइन शॉपिंग कर तगड़ी चोट दे देते हैं.

ऐसे बरतें सावधानी

कभी बैंक मैनेजर फोन करके एटीएम कार्ड की जानकारी नहीं मांगते. ऐसा काल आए तो हो जाएं अलर्ट

किसी भी व्यक्ति को एटीएम पर अंकित 16 डिजिट या एटीएम का चार अंकों वाला पासवर्ड न बताएं.

डिजिटल पेमेंट के वक्त एटीएम कार्ड दूसरे को न दें, खुद करें स्वैप

समय-समय पर अपने एटीएम कार्ड का गोपनीय कोड बदलते रहें.

ऑनलाइन शॉपिंग के लिए ओटीपी मिलता है. उसे किसी को न बताएं.

आई कनेक्ट

कुछ दिन पहले एक अननोन काल आयी थी. सामने वाले व्यक्ति ने खुद को बैंक अधिकारी बताते हुए मुझसे बैंक संबंधित जानकारी ली. फोन काटते ही मोबाइल पर 30, 297 रुपए ऑनलाइन शापिंग का मैसेज आ गया. मैंने पुलिस को सूचना दी.

शिवम यादव, छात्र

मेरे बेटे के खाते से हाल ही में साइबर ठगों ने 36 हजार की ठगी कर ली. पुलिस को इसकी शिकायत की है. लेकिन अभी तक ठगों को पता नहीं लगा है. साइबर सेल को भी इसकी लिखित तौर पर शिकायत की है.

चन्द्रकांत तिवारी, हाईकोर्ट

साइबर सेल से जुड़े जो भी मामले आते हैं उन्हें जल्द से जल्द हल करने का प्रयास किया जाता है. लोगों को सर्तक रहने की जरूरत है. अक्सर लोगों की छोटी गलती नुकसान पहुंचा देती है. कभी एटीएम का इस्तेमाल करते समय कोड और एटीएम नम्बर किसी को न दिखाएं.

अमोद कुमार, साइबर सेल अधिकारी

शातिरों ने लगाया हजारों का चूना

कर्नलगंज थाना क्षेत्र के रहने वाले सुजीत कुमार यादव के कटरा स्थित पीएनबी बैंक खाते से शातिर ठगों ने 11,269 रुपए का ट्रांजेक्शन कर लिया. फोन पर आए मैसेज के माध्यम से सुजीत को जानकारी हुई. उन्होंने बैंक के साथ ही स्थानीय पुलिस को लिखित सूचना दी. पुलिस ने अज्ञात शातिर ठगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.