-आईटीबीपी के एसआई को मैसेज भेजकर एटीएम डिटेल कराई फिल

-अकाउंट से 20 हजार रुपए निकाले, एसएसपी के आदेश पर एफआईआर

BAREILLY: टैक्सी सर्विस कंपनी में वाउचर रिफंड कराने के नाम पर साइबर ठगों ने आईटीबीपी के एसआई को अपने जाल में फंसा लिया. ठगों ने मैसेज का लिंक भेजकर एटीएम का नंबर मांग लिया और फिर पेटीएम के जरिए 20 हजार रुपए की ठगी कर ली. एसआई ने एसएसपी से शिकायत की. जिसके बाद केस साइबर सेल भेज गया. ट्यूजडे को कैंट थाना में ठगी की एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

नेट पर सर्च किया था नंबर

संजीत सिंह 3वीं वाहिनी आईटीबीपी कैंप बुखारा में दूर संचार विभाग में एसआई के पद पर तैनात हैं. संजीत सिंह ने बताया कि उनके पास उबेर कंपनी का 1 हजार रुपए का वाउचर था. उन्होंने 29 सितंबर को इंटरनेट के जरिए उबेर कस्टमर केयर का नंबर सर्च किया था. यहां से मिले दो नंबरों पर कॉल की तो नंबर बिजी जा रहे थे. करीब एक घंटे बाद शाम को 5 बजे एक नंबर से कॉल आयी और कॉल करने वाले अपना नाम दीपक शर्मा बताया. उसने पूछा कि किस काम के लिए फोन किया था तो उन्होंने वाउचर रिफंड के बारे में बताया.

दो मिनट में रिफंड का झांसा

संजीत के मुताबिक दीपक शर्मा ने उनसे कहा कि दो मिनट में रुपए रिफंड हो जाएंगे. वह लिंक भेज रहे हैं और वह उसपर सिर्फ एटीएम नंबर लिखकर भेज दें. उन्होंने लिंक ओपन होते ही उन्होंने 16 डिजिट का एटीएम नंबर फिल कर दिया. लिंक में नंबर डालते ही उनके अकाउंट से पेटीएम अकाउंट में 19999 रुपए ट्रांसफर कर लिए गए. उसके बाद जब उन्होंने फोन किया तो दीपक शर्मा लगातार बोल रहा है कि पैसे वापस कर देगा. संजीत एसएसपी ऑफिस पहुंचे तो वहां पर एसपी क्राइम ने उनके मामले को सुना और साइबर सेल भेजा. साइबर सेल में तुरंत जांच शुरू की गई.

बातों में फंसा लिया

संजीत ने बताया कि जब वह दीपक से बात कर रहे थे तो उन्हें शक हुआ. उन्होंने दीपक से उसका नाम, पता व ऑफिस का पता भी लिखा. उन्होंने दीपक से कहा कि उन्हें लग रहा है कि उनके साथ फ्रॉड हो रहा है तो दीपक ने अपनी बातों में फंसा लिया और कहा कि आप बॉस से बात कर लो. हम लोग ठगी नहीं करते हैं. उनका कहना है कि रुपए कटने के बाद उनके बिना फोन किए अकाउंट ब्लॉक कर दिया गया. जब इस बारे में पूछा तो ससपीसियस ट्रांजेक्शन की बात कही गई तो उन्होंने कहा कि ससपीसियस था तो ट्रांजेक्शन क्यों होने दिया गया तो उन्हें सही रेस्पॉन्स नहीं मिला.