4 साल में 35 फीसदी बढ़े साइबर अपराध, सबसे ज्यादा एटीएम से हो रही ठगी

modassir.khan@inext.co.in

PATNA : साइबर अपराधी लोगों को ठगने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं. पहले मोबाइल से कॉल कर लोगों को अपना शिकार बनाते थे. अब यह फंडा पुराना हो गया और लोगों इसके झांसे में नहीं आ रहे है. इसलिए साइबर अपराधी वाट्सएप को हथियार बना रहे हैं. ये लोग वाट्सएप पर 3 अंकों से लोगों को ठग रहे हैं. इतना ही नहीं इससे अब रंगदारी भी मांगने लगे हैं. इस साल पटना में वाट्सएप से रंगदारी मांगने के 6 मामले सामने आए हैं. हाल ही में पुलिस ने वाट्सएप से रंगदारी मांगने के मामले में बख्तिायरपुर में एक आरोपी को गिरफ्तार था.

खड़ाकर लिया बड़ा जाल

पटना में साइबर अपराध का एक बड़ा जाल खड़ा हो गया है. पिछले चार साल में साइबर अपराध के मामले में 35 फीसदी वृद्धि हुई है. वर्ष 2014 में जहां साइबर ठगों ने 84 लोगों को निशाना बनाया था. वहीं, 2018 में यह संख्या 133 हो गई है. वाट्सएप पर अश्लील मैसेज भेजलोगों को ब्लैकमेल कर रहे हैं.

क्या है 3 अंकों का फंडा

पुलिस ने बख्तियारपुर में एक भांजे को गिरफ्तार किया था. वो अपने मामा से 6 लाख रुपए का रंगदारी 3 नंबर के वाट्सएप से मांगा था. भांजा ने बताया था कि उसने प्ले स्टोर से इंटरनेशनल शॉट डिस्टेंश कॉल नाम का एक एप डाउनलोड किया. इसकी मदद से 3 अंक का नंबर तैयार किया.

एटीएम फ्रॉड के मामले अधिक

एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में ऑनलाइन ट्रांसफर करने का मामला सबसे अधिक दर्ज हो रहा है. इस साल एटीएम संबंधी 72 शिकायतें हुई हैं. हैकर एटीएम रिन्यू कराने के नाम पर अकाउंट और कार्ड की जानकारी ले लेते हैं.

साइबर अपराध की श्रेणी

कंप्यूटर, इंफॉर्मेशन सिस्टम या नेटवर्क में अनधिकृत रूप से घुसपैठ.

डेटा के साथ छेड़छाड़.

किसी सिस्टम से निजी या गोपनीय सूचनाओं की चोरी करना.

किसी दूसरे शख्स की पहचान से जुड़े डेटा, गुप्त सुचनाओं का इस्तेमाल.

दूसरों के क्रेडिट कार्ड नंबर, आधार नंबर, पास्पोर्ट नंबर, इलेक्ट्रॉनिक सिग्नेचर सहित अन्य का उपयोग करना.

सोशल नेटवर्किंग साइट का दुरूपयोग.

वाट्सअप, फेसबुक, इंस्टाग्राम सहित अन्य सोशल नेटवर्किंग साइट से महिलाओं को तंग करना.