बैंक मैनेजर बनकर 3 दिन में 1 लाख 99 हजार की ठगी

साइबर थाने व बैंक को सूचना देने के बाद भी खाते से निकलते रहे पैसे

देहरादून,

साइबर ठगों द्वारा एक मंदिर के पुजारी के खातों से लाखों रुपए उड़ाने का मामला सामने आया है. खुद को बैंक मैनेजर बताकर साइबर ठग पुजारी के खाते से 3 दिन तक अलग-अलग किश्तों में 1 लाख 99 हजार रुपए की रकम उड़ाते रहे. पीडि़त ने साइबर क्राइम थाने को इसकी तुरंत कम्पलेन दर्ज कराई. बाबजूद इसके आरोपी पीडि़त के खाते से रकम उड़ाते रहे. साइबर थाने ने बैंक को कार्यवाही के लिए मेल भी की, इसके बाद भी पीडि़त के खाते से पैसे निकलते रहे.

एटीएम कार्ड नहीं हुआ था अपडेट

मूल रूप से हरदोई के रहने वाले राजीव मिश्रा अर्जुन एनक्लेव स्थित एक मंदिर में पुजारी हैं. उनका खाता एसबीआई की हरदोई शाखा में है. कुछ दिन पहले ही उन्होंने बैंक से नया एटीएम कार्ड प्राप्त किया था, लेकिन एटीएम कार्ड अपडेट नहीं हुआ था. पीडि़त के मुताबिक विगत आठ नवंबर को करीब साढ़े चार बजे उन्हें एक फोन आया. फोन करने वाले ने खुद को बैंक मैनेजर बताते हुए कार्ड अपटेड कराने की बात कही. पीडि़त ने फोन करने वाले के झांसे में आकर कार्ड से संबंधित पूरी जानकारी दे दी. इसके कुछ ही देर बाद पीडि़तके फोन पर 96 हजार रुपये निकलने का मैसेज आया. इसके बाद उन्होंने इसकी जानकारी साइबर क्राइम पुलिस थाने में दी और अपना एटीएम कार्ड भी ब्लॉक करा दिया.

कम्पैन के बाद भी निकले पैसे

9 नवंबर को साइबर थाने ने मेल कर बैंक को इसकी कम्पलेन भी दर्ज कराई. बाबजूद इसके 9 नवंबर को फिर से उनके खाते से एक लाख एक हजार और शनिवार को भी दो हजार रुपये निकाल लिए गए. खास बा यह है कि साइबर क्राइम पुलिस ने इसकी जानकारी बैंक को दे दी थी. पीडि़त ने बताया कि उसके जीवन भर की कमाई ठगों ने उड़ा दी, जिससे वह काफी मुश्किल में पड़ गया है. इधर साइबर थाने के इंस्पेक्टर भरत नेगी ने बताया कि बैंक को कार्रवाई के लिए मेल कर दी गई है. इसके बाद पुलिस अपने स्तर से भी कार्रवाई करेगी.