-पूर्व सीएम अखिलेश यादव के आदेश पर टाउनहाल से निकलेगी तीन सौ कार्यकर्ताओं की साइकिल रैली

-पूर्व सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए लखनऊ तक भरेंगे हुंकार

पूर्व सरकार की योजनाओं को जन-जन के मस्तिष्क में लहर की भांति पहुंचाना, उपलब्धियों पर गौर कराना और विपक्षी सरकार की ओर से बंद कर दी गई योजनाओं से लाभांवित हुए लोगों की दास्तान सुनाने को समाजवादी पार्टी की फौज साइकिल रैली निकालने जा रही है. इसकी शुरुआत बनारस से होने जा रही है. तीन सौ कार्यकर्ताओं की टोली साइकिल से आधा पूर्वाचल नापने के साथ-साथ राजधानी लखनऊ तक हुंकार भरेगी. इसकी कमान पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की चहेती विंग समाजवादी युवजन सभा को सौंपी गई है. 30 अगस्त को मैदागिन के टाउनहाल मैदान से लाल टोपी पहन युवाओं की टोली जोश, उत्साह से लबरेज होकर कूच करेगी. सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के करीबी सयुस जिलाध्यक्ष किशन दीक्षित को रैली का संयोजक बनाया गया है. टाउनहाल से निकलकर रैली मैदागिन, विशेश्वरगंज के रास्ते मच्छोदरी होते हुए पड़ाव पहुंचेगी, इसके बाद यहां से मुगलसराय, चंदौली, सोनभद्र, भदोही, जौनपुर, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, अमेठी, बाराबंकी होते हुए लखनऊ पहुंचेगी. यहां टीम की हौसलाआफजाई के लिए खुद एक्स. सीएम अखिलेश यादव मौजूद रहेंगे.

29 को पूर्व सीएम लेंगे मीटिंग

तीस अगस्त से निकाली जाने वाली साइकिल रैली को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री काफी गंभीर हैं. इसे लेकर छात्रसभा, युवजनसभा सहित अन्य विंग के पदाधिकारियों को 29 अगस्त को सुबह में पार्टी कार्यालय लखनऊ बुलाया गया है. इसमें सभी को रैली के स्वागत सत्कार की जिम्मेदारियां दी जाएंगी. खास कर इसमें उन्हीं पदाधिकारियों को बुलाया गया है जो वर्तमान में काफी एक्टिव हैं.

सपा से जुड़ने के लिए हर कोई स्वतंत्र है. इच्छुक सपा कार्यकर्ता रैली में शामिल हो सकते हैं. रैली को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी गई है. शीर्ष नेतृत्व का आभार है कि मुझे इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है.

किशन दीक्षित, जिलाध्यक्ष सयुस

व रैली संयोजक

छात्रसभा की टीम भी पूर्व सरकार के कामकाज को गिनाने के लिए प्रयत्‍‌नशील है. शीर्ष नेतृत्व के आदेश पर रैली में विद्यापीठ छात्रसंघ के विजयी पदाधिकारियों की टीम भी शामिल रहेगी.

अभिषेक मिश्रा, जिलाध्यक्ष

समाजवादी छात्रसभा