कानपुर। भारतीय मौमस विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवातीय तूफान कल तूफान आंध्र प्रदेश आैर आेडिशा के तटों से गुजरने से यहां हालात गंभीर बने हैं। इस दौरान ओडिशा के गोपालपुर में चली हवाआें की रफ्तार 126 किलोमीटर प्रति घंटे के हिसाब से थी। एेसे में आेडिशा के गंजम, गजपति, खुर्दा,  केंद्रापड़ा, पुरी और बालासोर समेत करीब आठ जिलों में भारी बारिश हुर्इ। इसके साथ कर्इ इलाकों में पेड़ आदि उखड़ गए थे। तितली की वजह से कर्इ इलाकों का सड़क संचार बाधित रहने से जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। वहीं आशंका है कि बिहार आैर यूपी के भी कर्इ इलाके भी चपेट में आ सकते हैं।

तितली का कहर जारी : स्कूल काॅलेज बंद,भारी बारिश की आशंका-चपेट में आ सकते हैं आैर भी इलाके

बंगाल की खाड़ी में प्रवेश न करने की सलाह

पश्चिम बंगाल, बंगाल की खाड़ी के उत्तर, दक्षिण ओडिशा आैर उत्तरी आंध्र प्रदेश में आज भी मौसम की स्थितियां गंभीर रहेंगी। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक अगले 12 घंटों के दौरान धीरे-धीरे हालातों में सुधार होगा। फिलहाल अभी की स्थितियों को देखते हुए मछुआरों को बंगाल की खाड़ी में प्रवेश न करने की सलाह दी जाती है। वहीं आज दक्षिण ओडिशा में  50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी जो 70 किलोमीटर प्रति घंटे तक भी पहुंच सकती है। वहीं उत्तर ओडिशा और पश्चिम बंगाल तट पर हवाआें की रफ्तार 40 से 50 किमी प्रति घंटे आैर 60 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने की संभावना है।

तितली का कहर जारी : स्कूल काॅलेज बंद,भारी बारिश की आशंका-चपेट में आ सकते हैं आैर भी इलाके

अधिकांश इलाके भारी बारिश से सराबोर रहेंगे
पश्चिम मध्य अरब सागर में आंधी आने की संभावना है।यहां हवाआें की गति 135 से 145 किमी प्रति घंटे होने के साथ ही 160 किमी प्रति घंटे तक पहुंच सकती हैं। हालांकि पश्चिम मध्य अरब सागर के केंद्र से निकलने के बाद हवाआें की रफ्तार थोड़ी कम होने की संभावना है। इनकी गति 110 से 120 किमी प्रति घंटे हो सकती है। वहीं आज असम और मेघालय में भारी बारिश के आसार हैं। पश्चिम बंगाल में भी कुछ इलाकों आैर ओडिशा और नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भी कुछ इलाकों में बारिश होने की आशंका है।  झारखंड आैर अरुणाचल प्रदेश के भी अधिकांश इलाके भारी बारिश से सराबोर रहेंगे।

तितली का कहर जारी : स्कूल काॅलेज बंद,भारी बारिश की आशंका-चपेट में आ सकते हैं आैर भी इलाके

यहां पर शासन प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट
वहीं न्यूज एजेंसी आर्इएएनएस के मुताबिक कल तितली तूफान की वजह से आेडिशा का काफी बुरा हाल रहा। यहां के विभिन्न इलाकों से कल करीब तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों की ओर जाना पड़ा। तूफान से परेशान लोगाें के लिए कुल 1,112 राहत शिविर खोले गए हैं। वहीं ओडिशा के मुख्य सचिव आदित्य पाधी ने सभी स्कूलों, कॉलेजों और आंगनबाड़ियों को गुरुवार और शुक्रवार को बंद रखे जाने की घोषणा की। इसके अलवा यहां पर शासन प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। प्रभावित इलाकों में कुल 13 राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल आैर नौ ओडिशा आपदा त्वरित प्रतिक्रिया बल की टीमें तैनात की गई हैं।

तितली का खतरा मंडराया, बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवात से भारी बारिश

तूफानों के नाम और उनका मतलब

National News inextlive from India News Desk