सिलेंडर फटते ही लोगों ने भाग कर बचाई जान

तीन फायर ब्रिगेड की गाडि़यों ने किया आग पर काबू

MEERUT : जिला अस्पताल के नजदीक तंग गली में गैस की रिफिलिंग करते हुए आग लग गई, जिससे सिलेंडर बम का गोला बनकर फटने लगे। क्षेत्र में हाहाकार मच गया। आसपास के लोगों ने फायर ब्रिगेड के साथ मिलकर तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। पुलिस ने वहां पर रखे 70 सिलेंडरों को अपने कब्जे में लेकर दो लोगों के खिलाफ थाना देहली गेट में मुकदमा दर्ज किया।

यह है मामला

थाना देहली गेट क्षेत्र के अख्तर मस्जिद के पीछे प्रदीप बंसल की जनरल कनफेक्शनरी की दुकान है। दुकान के ऊपर आवास व गोदाम बना रखा है। वह पिछले कई सालों से अपनी दुकान से घरेलू सिलेंडरों की रिफिलिंग का काम करता है। सोमवार दोपहर 12.30 बजे करीब प्रदीप बंसल व उसका बेटा हर्ष बंसल अपने आवास व गोदाम पर गैस की रिफिलिंग कर रहे थे। इसी दौरान रिफिलिंग करते समय सिलेंडरों में आग लग गई। देखते ही देखते आग वहां पर रखे कई सिलेंडरों में फैल गई। कुछ ही देर में सिलेंडर बम का गोला बनकर फटने लगे। क्षेत्र में भगदड़ मच गई। आसपास के लोग अपने मकान से निकल कर भाग निकले। प्रदीप बंसल व हर्ष बंसल भी आग से झुलसते हुए दोनों मकान की खिड़की से कूद गए।

बेहद तंग गली

जिस जगह प्रदीप बंसल का मकान व दुकान है। वह काफी तंग गली है। वहां पर करीब एक हजार लोग रहते हैं। जब सिलेंडरों में आग लगी तो लोगों ने भाग कर अपनी जान बचाई।

सिलेंडर किए जब्त

पुलिस ने वहां पर रखे 70 घरेलू व कर्मिशियल सिलेंडर जब्त किए। एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह ने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी है। वहां से 70 सिलेंडर जब्त किए गए हैं।

अवैध कारोबार से अंजान पुलिस

जिस जगह यह घटना हुई, वहां से एसपी सिटी का आफिस चंद कदम दूर है, लेकिन कहने के लिए पुलिस को इस अवैध कारोबार की भनक तक नहीं लगी, जबकि वहां पर रहने वाले रहीस का कहना है कि उसने कई बार देहली गेट पुलिस से शिकायत की थी, लेकिन पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की।

--------

प्रदीप बसंल की दुकान में अवैध रूप से गैस रिफिलिंग चल रही थी। वहां पर करीब 80 सिलेंडर रखे हुए थे। इसकी जांच शुरू कर दी है।

संजीव कुमार एफएसओ