RANCHI: विकास के नाम पेड़ों की अंधाधुंध कटाई की जा रही है, जिससे ग्लोबल वार्मिंग की समस्या बढ़ गई है। पर्यावरण का संतुलन बिगड़ने लगा है। गर्मी में अधिक गर्मी तो सर्दी में अधिक सर्दी पड़ रही है। इतना ही नहीं, बेमौसम बरसात का भी यही कारण है। चूंकि ये पेड़-पौधे ही हैं जो हमारे पर्यावरण के बॉडीगार्ड हैं। साथ ही ये पर्यावरण को बैलेंस रखने का भी काम करते हैं। दैनिक जागरण आईनेक्स्ट अप्रैल कूल अभियान के तहत लोगों को अधिक से अधिक पौधे लगाने की अपील कर रहा है ताकि पर्यावरण को बर्बाद होने से बचाया जा सके। शुक्रवार को भी लोगों ने अप्रैल कूल के तहत पौधे लगाकर पर्यावरण को बचाने का संकल्प लिया।

जगह की कमी, गमले में लगाएं पौधे

कार्टून प्ले स्कूल की डायरेक्टर राजश्री ने कहा कि पेड़-पौधे के बिना धरती पर जीवन संभव नहीं है। पर्यावरण संतुलन के लिए हमें अधिक से अधिक पेड़ लगाने चाहिए। अगर हमारे आसपास में जगह की कमी है तो गमले में पौधे लगाएं। इससे पर्यावरण को थोड़ा तो नुकसान होने से बचाया जा सकेगा। वहीं लिटिल विंग्स पब्लिक स्कूल की प्रिंसिपल नीता सिंह को भी पेड़-पौधे से काफी लगाव है। उन्होंने कहा कि मनुष्य का कर्तव्य है कि वो अपने जीवन में कम से कम एक पौधा अवश्य लगाए। साथ ही अपने आसपास लगे पेड़-पौधों की सुरक्षा भी करे।

हरियाली को आगे आए लोग

अप्रैल कूल अभियान के तहत सामाजिक संस्था बाल विकास मंच की ओर से कोयला विहार अपार्टमेंट में लोगों ने पौधरोपण किया। साथ ही कहा कि पर्यावरण को बचाना है तो हरियाली के लिए सभी को पहल करनी होगी। मौके पर राजीव रंजन, आशुतोष द्विवेदी, रंजना रंजन, पंखुरी रंजन, स्नेह समेत अन्य मौजूद थे।