छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: तुलसी भवन बिष्टुपुर के समीप दैनिक जागरण आई नेक्स्ट द्वारा मिलेनियल्स स्पीक के तहत राजनी-टी परिचर्चा का आयोजन किया गया। रविवार को आयोजित इस कार्यक्रम में युवाओं ने 'भ्रष्टाचार कम करने में सरकार कितनी कामयाब रही है' विषय पर अपनी बेबाक राय रखी। चर्चा की शुरूआत करते हुए तनवीर हैदर ने कहा भ्रष्टाचार पर रोकथाम करने में तत्कालीन सरकार ने अच्छी सफलता पाई है। युवाओं ने कहा कि देश की संपति लेकर भागे नीरव मोदी और विजय माल्या कि संपति की कुर्की कर सरकार रिकवरी करने का काम कर रही है। पांच सालों में सरकार के किसी भी मंत्री पर किसी तरह के भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगे हैं। इस सरकार में किसी भी मंत्री तथा संसद पर भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगे हैं। देश की योजनाओं को डिजिटल और कैशलेस सिस्टम से जोड़ा जा रहा हैं। युवाओं ने कहा कि सरकार के प्रयास सार्थक है, आने वाले समय में इस कार्य में और भी सफल स्थित तक सरकार पहुंचने का काम करेंगी। मिलेनियल्स शैलेन्द्र कुमार ने कहा अपनी बात रखने और शिकायत के माध्यम में भी सरकार ने अच्छे काम किए है। सरकारी पोर्टल के माध्यम से आप किसी भी के आला अधिकारी के खिलाफ शिकायत कर सकते हैं। जिससे देश में भ्रष्टाचार कम हुआ है।

मेरी बात

भ्रष्टाचार पर नकेल कसने काम इस सरकार में हुआ है। नीरव मोदी तथा विजय माल्या जो देश का पैसा लेकर देश छोड़ कर भागे थे, दोनों पर सरकार कार्रवाई कर रही है। देश की सभी महत्वपूर्ण योजनाओं को डिजिटल माध्यम से जोड़ दिया गया हैं। जिससे सरकारी कार्यालय में लोग आसानी से काम करवा पा रहे हैं। डिजिटल लेनदेन बढ़ने से कार्यालयों में करप्शन कम हुआ है। हम ऐसी सरकार लाना चाहते हैं, जो भ्रष्टाचार से पूरी तरह मुक्त हो।

तनवीर अहसन

कड़क मुद्दा

सरकारी कार्यालयों में अब अधिकारी भ्रष्टाचार करने या पैसा लेने से डरते हैं। जब से सरकारी कार्यो को डिजिटल माध्यम से जोड़ा गया है, इससे जनता को काफी फायदा मिला है। सरकार इस गति से अगर कार्य करती गई तो आने वाले दिन में पूरे देश में भ्रष्टाचार पूरी तरह से खत्म हो जाएगा। ऐसा कार्य मौजूदा सरकार ही कर सकती है।

शैलेंद्र कुमार सिंह

सरकार ने भ्रष्टाचार को कम करने के लिए कई कड़े कदम उठाए हैं, जो सराहनीय है। अभी भ्रष्टाचार देश से पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है, हमें ऐसी सरकार को चुन कर लाना है, जो भ्रष्टाचार को पूरी तरह से देश से खत्म करें।

मुकेश सिंह

इस सरकार में भ्रष्टाचार कम हुआ हैं। सरकार ने भ्रष्टाचार की रोकथाम के लिए जरूरी कार्य किए हैं। डिजिटल लेनदेन से कालाबाजारी और भीड़ से मुक्त मिली है, देश में सुधार की और जरूरत हैं।

मनीष कुमार दीक्षित

नोटबंदी कर सरकार ने ब्लैक मनी पर अंकुश लगाने का काम किया है। लेकिन सरकार द्वारा अब तक किए गये काम को काफी नहीं माना जा सकता हैं। सरकारी कार्यालय में अभी भी भ्रष्टाचार व्याप्त हैं। इसको दूर करने के लिए अभी काम करने की जरूरत हैं।

अमित कुमार श्रीवास्तव

इस सरकार में भ्रष्टाचार हुआ नही है। पहले की सरकार पूर्ण रूप से भ्रष्टाचार में लिप्त थी, पहली की सरकार में सिर्फ भ्रष्टाचारी नेता रहे, इस सरकार में एक भी नेता भ्रष्टाचार में लिफ्त नही हैं।

विनोद सिंह

इस सरकार में भ्रष्टाचारियों को जेल में डाला जा रहा है, सभी चाहते है यह सरकार फिर से आए तथा देश में पूर्ण रूप से भ्रष्टाचार को खत्म कर दे।

विक्रम चंद्रावर

डिजिटल माध्यम से सरकारी कार्यो को जोड़ने से भ्रष्टाचार में कमी आई है, अब लोग ऑनलाइन एफआईआर करा रहे है, पहले एफआईआर करने के लिए पुलिस वालों को पैसे खिलाने पड़ते है, लेकिन इस सरकार में कई कार्य आसान हुए है।

प्रभाकर कुमार

इस सरकार में भ्रष्टाचार काफी हद कम हुआ है, आज राशन दुकान को डिजिटल माध्यम से जोड़ने से लोगो सहुलियत हुई है, राशन दुकान वाले राशन को बेचते नही है, ऑनलाइन कार्य हो जाने से भ्रष्टाचार के खिलाफ हम एप से ही शिकायत कर सकते हैं।

सोमनाथ मुखर्जी

सतमोला खाओ, कुछ भी पचाओ

चर्चा के दौरान बिजली का मुद्दा उठा, जिसमें युवाओं ने कहा इस सरकार के आने से बिजली की समस्या काफी हद तक कम हुई है, पहले काफी बिजली कटती थी, लेकिन अब बिजली बहुत कम गुल होती है।