3 माह पहले नशा मुक्ति केंद्र में हुई थी मौत

कमिश्नर के आदेश पर कार्रवाई, शव का होगा पोस्टमार्टम

Meerut. तीन माह पूर्व नशा मुक्ति केन्द्र में दम तोड़ने वाले आदिल का शव कमिश्नर के आदेश पर बुधवार को कब्र खोदकर निकाला गया. शव के पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया.

नशे का आदी था बेटा

नौचंदी थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर सेक्टर 11 मकान नंबर 590 निवासी इलियास वेल्डिंग का काम करते हैं. इलियास के अनुसार उनका युवा पुत्र आदिल नशे की लत का आदि था. जब आदिल ने नशा नहीं छोड़ा तो तीन माह पूर्व उसे पिलखुवा स्थित नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया था, लेकिन तीन दिन बाद नशा मुक्ति केंद्र में आदिल की मौत हो गई.

यातनाएं देने का आरोप

पिता इलियास का आरोप है कि नशा मुक्ति केंद्र में नशा छुड़ाने के नाम पर उसके पुत्र आदिल को गंभीर यातनाएं दी गईं, जिससे उसकी मौत हो गई. लेकिन कोई सुनवाई न होने पर उसने अपने पुत्र के शव को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया. बीती 29 दिसंबर को मामले की शिकायत कमिश्नर डॉ. प्रभात कुमार से की गई. जिसके बाद उनके आदेश पर एसीएम द्वितीय गुलशन कुमार ने आदिल के शव को कब्र से निकलवा कर पोस्टमार्टम कराने के आदेश दिए. बुधवार को पुलिस की मौजूदगी में बाले मियां कब्रिस्तान से आदिल का शव कब्र खोदकर बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया.